परमाणु युद्ध की संभावनाएं ख़त्म करने पर पांच बड़े देश सहमत

अमेरिका, ब्रिटेन, चीन, रूस और फ्रांस ने परमाणु हथियारों के विस्तार और परमाणु युद्ध की संभावनाएं ख़त्म करने पर सहमति जताई है.
सोमवार को रूस की ओर से जारी किए गए पांचों देश के साझा बयान में कहा गया है कि परमाणु हथियारों के विस्तार और दो परमाणु हथियारों वाले देशों को युद्ध की स्थिति बचना चाहिए.
ये पांच देश संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य हैं. इन देशों ने माना है कि परमाणु शक्तियों के बीच युद्ध से बचने और रणनीतिक जोख़िमों को कम करना उनकी प्राथमिक ज़िम्मेदारी है. इसके साथ ही सुरक्षा का माहौल बनाने के लिए सभी देशों के साथ मिलकर काम करना चाहिए.
साझा बयान में कहा गया है, हमारा यक़ीन है कि परमाणु युद्ध जीते नहीं जा सकते और ये युद्ध नहीं लड़े जाने चाहिए.
‘जैसा कि हम जानते हैं कि परमाणु हथियारों के इस्तेमाल के परिणाम लंबे वक़्त तक रहते हैं इसलिए हमारा मानना है कि इसे आत्मरक्षा के लिए, तनाव कम करने और युद्ध रोकने के उद्देश्य से प्रयोग करना चाहिए. ’
समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार चीन के उप विदेश मंत्री मा ज़ाओक्सू ने कहा कि संयुक्त बयान आपसी विश्वास बढ़ाने में मदद करेगा और “समन्वय-सहयोग के साथ बड़ी शक्तियों के बीच प्रतिस्पर्धा को बदल सकता है.”
चीन की परमाणु हथियारों को लेकर “नो फ़र्स्ट यूज़” की नीति है.
फ़्रांस ने भी एक बयान जारी करते हुए कहा है कि पांचों देशों ने परमाणु हथियार नियंत्रण और निरस्त्रीकरण के लिए अपने दृढ़ संकल्प को दोहराया. इसके लिए द्विपक्षीय और बहुपक्षीय कोशिशें जारी रहेंगी.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *