कोविशिल्ड वैक्सीन की पहली खेप सीरम इंस्टीट्यूट से रवाना

पुणे। कोरोना महामारी के ख़िलाफ़ लड़ाई में आज से निर्णायक चरण की शुरुआत हो गई है. देश में वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू होने से चार दिन पहले आज कोविशिल्ड वैक्सीन की पहली खेप सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से रवाना हुई.
आज सुबह 5 बजे वैक्सीन को ट्रकों में भरकर पुणे एयरपोर्ट पहुंचाया गया. इन ट्रकों में वैक्सीन के लिए ज़रूरी तापमान का ख़ास ध्यान रखा गया. पुणे एयरपोर्ट से इन वैक्सीन को देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंचाया जाएगा.
वैक्सीन के ट्रांसपोर्टेशन के काम को देख रहे एक सूत्र ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि ट्रकों में वैक्सीन के 478 बक्से लदे थे, हर बक्से का वज़न 32 किलो था.
ट्रक मंजरी स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से निकलकर 15 किलोमीटर दूर एयरपोर्ट पहुंचे.
सूत्र ने बताया कि सुबह 10 बजे तक वैक्सीन को देश भर की 13 अलग-अलग जगहों पर पहुंचाया जाएगा.
सीरम इंस्टीट्यूट से निकलने से पहले ट्रकों की “पूजा” की गई.
कोविशिल्ड वैक्सीन को पुणे से जिन जगहों पर ले जाया जा रहा है, उनमें दिल्ली, अहमदाबाद, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, करनाल, हैदराबाद, विजयवाड़ा, गुवहाटी, लखनऊ, चड़ीगढ़ और भुवनेश्वर शामिल हैं.
सूत्र ने बताया कि वैक्सीन को दो कार्गो विमानों समेत आठ कमर्शियल उड़ानों में पुणे से लाया जाएगा. उनके मुताबिक़, पहला कार्गो विमान हैदराबाद, विजयवाड़ा और भुवनेश्वर को कवर करेगा और दूसरा कार्गो विमान कोलकाता और गुवहाटी जाएगा.
सोमवार को गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने ट्वीट किया ता कि उनके राज्य को मंगलवार सुबह 10.45 बजे कोरोना वायरस वैक्सीन की पहली खेप मिल जाएगी.
केंद्र सरकार ने सोमवार को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक को एडवांस में छह करोड़ से ज़्यादा वैक्सीन का ऑर्डर दे दिया था. भारत वैक्सीनेशन के पहले चरण में 16 जनवरी से तीन करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन कर्मचारियों को वैक्सीन देना शुरू करेगा.
सोमवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीनेशन एक्सरसाइज़ होगी. उन्होंने कहा कि भारत में अगले कुछ महीनों में 30 करोड़ से ज़्यादा लोगों को टीका दिया जाएगा, जबकि दुनिया भर के 50 देशों में एक महीने में अब तक सिर्फ 2.5 करोड़ लोगों को ही वैक्सीन दी गई है.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *