एक्ट्रेस श्वेता तिवारी के खिलाफ भोपाल में FIR दर्ज

टीवी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी मुश्किलों में फंस गई हैं। भोपाल में वेब सीरीज के प्रमोशन के दौरान उन्होंने भगवान को लेकर विवादित बयान दिया था। इसकी वजह से उन पर केस दर्ज हो गया है। भोपाल के श्यामला हिल्स पुलिस स्टेशन में श्वेता तिवारी के खिलाफ IPC की धारा 295(A) के तहत केस दर्ज हुआ है।
महंगा पड़ा मजाक
श्वेता पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगा है। दरअसल, एक वेब सीरीज के प्रमोशन से जुड़े कार्यक्रम में श्वेता ने कहा कि मेरे ब्रा का नाप भगवान ले रहे हैं। मजाकिया अंदाज में उन्होंने यह बात तो कह दी, पर इसे लेकर बवाल खड़ा हो गया है। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने भोपाल कमिश्नर मकरंद देउस्कर को 24 घंटे में जांच करने और रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए थे। श्वेता तिवारी फैशन से जुड़ी एक वेब सीरीज की तैयारियों और प्रमोशन को लेकर प्रोडक्शन टीम के साथ 26 जनवरी को भोपाल आई थीं।
जलाए गए पोस्टर
संस्कृति बचाओ मंच ने भोपाल के प्लेटिनम प्लाजा पर श्वेता तिवारी की तस्वीरों के साथ प्रदर्शन किया। उनकी तस्वीरों को जलाया गया। मंच के मध्य प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने कहा कि श्वेता तिवारी ने जिस प्रकार भगवान का अपमान करके अनर्गल बयानबाजी की है, वेब सीरीज की हम भोपाल में शूटिंग नहीं होने देंगे। हम गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा जी से निवेदन करते हैं कि इसके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाए। अपराधिक प्रकरण दर्ज करें। इस वेब सीरीज की शूटिंग के लिए अनुमति भोपाल में न दी जाए। देवी-देवताओं का अपमान करने का ठेका फिल्म डायरेक्टर, फिल्म के हीरो-हीरोइनों ने ले रखा है। इसे हिंदू समाज बर्दाश्त नहीं करेगा। श्वेता तिवारी को अपने बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए।
इस मामले में अब श्वेता तिवारी भी का आधिकारिक बयान आया है।
‘गलती हो गई पर…’
मीडिया को दिए अपने स्टेटमेंट में श्वेता ने लिखा, ‘यह मेरे संज्ञान में आया है कि मेरे एक सहयोगी से कहीं मेरी बातों को जोकि संदर्भ से बाहर थीं, को गलत समझा गया। अगर मेरे बयान का संदर्भ समझा जाता तो मैंने भगवान के संदर्भ में सौरभ राज जैन को रखते हुए कहा था जोकि एक देवता की लोकप्रिय भूमिका के संदर्भ में था। लोग किरदारों के नामों को अभिनेताओं से जोड़ते हैं और इसलिए मैंने मीडिया के साथ अपनी बातचीत के दौरान इसे एक उदाहरण के रूप में इस्तेमाल किया।’
श्वेता ने मांगी माफी
श्वेता तिवारी ने आगे कहा, ‘हालांकि इसे पूरी तरह से गलत समझा गया है जो काफी दुखद है। मैं खुद ईश्वर में इतनी आस्था रखती हूं, मैं कुछ भी ऐसा कहने की सोच भी नहीं सकती, जिससे लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचे। कृपया आश्वस्त रहें, शब्दों या कार्यों से किसी को चोट पहुंचाने का मेरा इरादा कभी नहीं रहा है इसलिए मैं विनम्रतापूर्वक उस चोट के लिए माफी मांगना चाहती हूं जो मेरे बयान से अनजाने में बहुत से लोगों को पहुंची है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *