अर्नब पर यूके ब्रॉडकास्टिंग रेग्युलेटर ने 20,000 पॉन्ड का जुर्माना लगाया

नई दिल्‍ली। रिपब्लिक टीवी के मालिक अर्नब गोस्वामी पर यूके ब्रॉडकास्टिंग रेग्युलेटर ने 20,000 पॉन्ड का जुर्माना लगाया है। यह जुर्माना उनके ब्रिटेन में हिंदी समाचार चैनल, रिपब्लिक भारत पर किया गया है। उनके ऊपर आरोप है कि उनके चैनल ने पाकिस्तानी लोगों के प्रति नफरत को बढ़ावा देने वाली सामग्री दिखाई।
ऑफकॉम ने वर्ल्डव्यू मीडिया नेटवर्क लिमिटेड पर 20 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है, जिसके पास रिपब्लिक भारत का लाइसेंस है। वर्ल्डव्यू मीडिया यूके में हिंदी भाषी समुदाय को लक्षित करता है। Ofcom ने जुर्माना लगाने के साथ ही चैनल के लिए गाइडलाइंस भी जारी की हैं। इसके तहत चैनल को Ofcom की फाइंडिंग्स को चलाना होगा। इसके अलावा चैनल पर कोई भी प्रोग्राम रिपीट नहीं करने के निर्देश दिए गए हैं।
‘पूछता है भारत’ प्रोग्राम पर आपत्ति
यह जुर्माना 6 सितंबर 2019 को गोस्वामी द्वारा प्रस्तुत दैनिक करंट अफेयर्स प्रोग्राम ‘पूछता है भारत’ के एक एपिसोड पर लगाया गया है। इसमें पाकिस्तानी लोगों पर निरंतर और बार-बार हमला बोला गया।
इन मुद्दों पर हुई थी बहस
एक और प्रसारण में गोस्वामी और तीन भारतीय और तीन पाकिस्तानी मेहमानों के बीच 22 जुलाई 2019 को चंद्रमा पर अपने मिशन पर अंतरिक्ष यान चंद्रयान 2 भेजने के प्रयास से संबंधित एक बहस हुई। Ofcom का कहना है कि इस बहस में पाकिस्तान की तुलना भारत के अंतरिक्ष अन्वेषण और तकनीकी प्रगति से की गई। इसके अलावा पाकिस्तान पर भारत के खिलाफ कथित आतंकवादी गतिविधियां करने का आरोप लगाया गया।
कंसल्टिंग एडिटर ने पूरे पाकिस्तान को बताया आतंकी!
भारत की धारा 370 को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव की पृष्ठभूमि पर भी डिबेट की गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि गोस्वामी और कुछ गेस्ट्स ने यह बताया कि सभी पाकिस्तानी लोग आतंकवादी हैं। चैनल के कंसल्टिंग एडिटर गौरव आर्य ने कहा: ‘उनके वैज्ञानिक, डॉक्टर, उनके नेता, राजनेता सभी आतंकवादी हैं। यहां तक कि उनके प्लेयर्स भी। यह पूरा राष्ट्र आतंकवादी है। मुझे नहीं लगता कि किसी को बचाया गया है। आप एक आतंकवादी यूनिट के साथ काम कर रहे हैं।’
एक गेस्ट प्रेम शुक्ला ने पाकिस्तानी वैज्ञानिकों को “चोर” बताया और गोस्वामी ने पाकिस्तानी लोगों को संबोधित करते हुए कहा: “हम वैज्ञानिक बनाते हैं, आप आतंकवादी बनाते हैं”।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *