भारतीय स्टार्टअप कंपनी Misho में फेसबुक ने किया निवेश

नई दिल्‍ली। फेसबुक ने ऑनलाइन कारोबार को बढ़ावा देने वाली भारतीय स्टार्टअप कंपनी Misho में निवेश कर अन्‍य भारतीय कंपनियों के लिए जहां बाजार के नए रास्‍ते बना दिये है वहीं छोटे छोटे शहरों तक ऑनलाइन कारोबार को आसान बनाने का रास्‍ता भी बनाया है।

किसी भारतीय स्टार्टअप में अपने पहले इक्विटी निवेश के तहत, फेसबुक ने गुरुवार को Misho में निवेश की घोषणा की है, जो भारतीय उद्यमियों को सोशल चैनल्स के माध्यम से ऑनलाइन कारोबार स्थापित करने में सक्षम बनाने वाला प्लेटफार्म है।

पांच साल में दूसरी बार एक और भारतीय स्टार्टअप कंपनी मीशो में निवेश किया है। फेसबुक ने निवेश के साथ ही कंपनी में हिस्सेदारी खरीद ली है। इससे पहले 2014 में उसने हैदराबाद की लिटिल आई लैब्स को खरीदा था।

ऑनलाइन कारोबार को देती है बढ़ावा
मीशो को दो दोस्तों ने शुरू किया था। मीशो एक भारतीय सोशल ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है। इसकी स्थापना दिल्ली आईआईटी से स्नातक विदित अत्रे और संजीव बरनवाल ने दिसंबर 2015 में की थी। यह मुख्यतः कारोबारियों को अपना व्यापार ऑनलाइन माध्यम से बढ़ाने में सहायता करती है।

ऐसे बढ़ाती है करोबार
यह छोटे उद्यमियों को व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि जैसे सोशल चैनलों के माध्यम से अपने ऑनलाइन स्टोर शुरू करने में सहायता करता है। मीशो के सहसंस्थापक विदित अत्रे ने बताया कि पिछले चार सालों में मीशो से 15 हजार सप्लायर और 20 लाख रीसेलर जुड़े हैं।

पहले ही जुटा चुकी है 455 करोड़ रुपये
मीशो इससे पहले ही करीब 455 करोड़ रुपये (6.5 करोड़ डॉलर) जुटा चुकी है। डीएसटी पार्टनर्स, आरपीएस वेंचर्स, शनवे कैपिटल, सैफ पार्टनर्स, सिक्योइया इंडिया और वाय कॉम्बिनेटर जैसी कंपनियों ने इसमें निवेश कर रखा है।

80 फीसदी महिला उद्यमी
मीशो को खरीदने के पीछे फेसबुक का सबसे बड़ा कारण यह है कि उससे छोटे शहरों की करीब 80 फीसदी महिलाएं जुड़ी हैं, जोकि विक्रेता हैं। फेसबुक इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट और एमडी अजित मोहन ने पीटीआई से बातचीत में बताया कि इस निवेश के तीन मुख्य कारण हैं।
पहला कारण हम मीशो के संस्थापकों और इसकी टीम को लेकर काफी उत्साहित हैं। दूसरा कारण यह है कि इसका फोकस देश के टायर-2 और टायर-3 शहरों पर है। इसके जरिए वह इंटरनेट के जरिए बड़े महानगरों के बजाए नए इंडिया को प्रमोट कर रहे हैं। तीसरा कारण है महिला उद्यमी।

नहीं किया निवेश का खुलासा
फेसबुक ने इसको खरीदने के पीछे किए निवेश का खुलासा नहीं किया है। पिछले चार सालों में मीशो से 15 हजार सप्लायर और 20 लाख रीसेलर जुड़े हैं।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *