पाक पीएम इमरान को विदेश मंत्री का जवाब: भारत का अपना चरित्र है, खुद का नज़रिया है

नई दिल्‍ली। खुद चीन के हाथों की कठपुतली बना पाकिस्‍तान अब भारत को सीख देने की नाकाम कोशिश कर रहा है। पिछले दिनों पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि पश्चिमी देश भारत को मोहरे की तरह इस्‍तेमाल कर रहे हैं। चीन के साथ पाकिस्‍तानी भविष्‍य के सब्‍जबाग दिखाते हुए इमरान का कहना था कि चीन को दबाने के लिए पश्चिमी ताकतें भारत का इस्‍तेमाल कर रही हैं। उन्‍होंने चीन के साथ जाने की एक बड़ी वजह इसे बताया था।
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दिखाया आइना
भारत की तरफ से विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि ‘शायद वह अपना इतिहास देख रहे होंगे। भारत तो ऐसा नहीं है।’ जयंशकर ने कहा कि हमें अपनी आजादी पर गर्व महसूस होता है। उन्‍होंने एक इंटरव्‍यू में अंग्रेजी अखबार हिंदुस्‍तान टाइम्‍स से कहा, “कुछ लोगों को लगता है कि उन्‍होंने कुछ किया, तो हम भी वैसा ही करेंगे। भारत का खुद को लेकर अपना नजरिया है।”
इमरान ने क्‍या कहा था?
दुनिया न्‍यूज़ को दिए इंटरव्‍यू में इमरान ने चीन को सच्‍चा दोस्‍त बताया था। उन्‍होंने कहा था कि पाकिस्‍तान का भविष्‍य चीन के साथ जुड़ा है। बकौल इमरान, चीन ही वो इकलौता मुल्‍क है जो हमेशा पाकिस्‍तान के साथ खड़ा रहा। उसी इंटरव्‍यू में भारत का जिक्र करते हुए खान ने कहा था कि ‘यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि पश्चिमी ताकतें चीन को दबाने के लिए भारत का इस्‍तेमाल कर रही हैं।’ उन्‍होंने कहा कि चीन से नजदीकी के पीछे भौगोलिक कारणों से इतर यह भी एक वजह है।
वो अपने वजूद को आंक रहे होंगे: जयशंकर
विदेश मंत्री ने एचटी से बातचीत में कहा, “जो ये सब कहते हैं, वो शायद अपने इतिहास पर गौर कर रहे होंगे और अपने वजूद को आंक रहे होंगे। निश्चित तौर पर भारत ऐसा नहीं है।” विदेश मंत्री ने कहा, “हमारा इतिहास देखिए। चूंकि हम दो बड़ी मुश्किल सदियों से गुजरे हैं, हमें अपनी आजादी पर खास नाज़ है। कुछ लोगों को लगता है कि उन्‍होंने कुछ किया तो हम भी वैसा ही करेंगे। भारत का खुद को लेकर अलग नजरिया है।” जयशंकर ने कहा कि ‘भारत के अपने हित हैं, अपना चरित्र है।’ उन्‍होंने कहा कि भारत को किसी के खिलाफ परिभाषित नहीं किया जा सकता।
चीन के खिलाफ भारत के पक्ष में है अमेरिका
चीन की हरकतों ने कई देशों को परेशान किया है जिनमें से भारत और अमेरिका भी शामिल है। यही वजह है कि बीते दिनों, चीन के मसले पर दोनों देशों की नजदीकियां बढ़ी हैं। कभी अमेरिका के इशारों पर नाचने वाला पाकिस्‍तान अब चीन की बीन पर नाच रहा है। इस वजह से उसे अमेरिका खास पसंद नहीं रह गया है। चीन ने जिस तरह से दक्षिण चीन सागर में कब्‍जे की कोशिशें कीं और फिर अमेरिकी हितों पर चोट करने की कोशिश की, उससे वहां पर चीन के खिलाफ माहौल बना है। इधर भारत ने जिस तरह से चीन का लद्दाख में सामना किया और फिर अपने तरीके से जवाब दिया, उसे अमेरिका से भी तारीफ मिली है। पाकिस्‍तान को यह सब फूटी आंख नहीं सुहा रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *