Ex MLA व जेजेपी नेता सतविंदर राणा शराब घोटाले में गिरफ्तार

चंडीगढ़। हरियाणा के Ex MLA सतविंदर राणा को यहां पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। Ex MLA सतविंदर राणा को चंडीगढ़ के सेक्‍टर तीन स्थित हरियाणा एमएलए हॉस्‍टल से देर रात गिरफ्तार किया गया। यह कार्रवाई पानीपत पुलिस की क्राइम ब्रांच ने की और बुधवार देर रात छापा मारा। उनका नाम पानीपत के समालखा के एक गोदाम से शराब चोरी मामले से जुड़ रहा है। इस मामले में छह लाेग पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। बताया जाता है कि समालखा के इस गोदाम में सतविंदर राणा हिस्‍सेदार हैं। राणा को थोड़ी देर में समालखा कोर्ट में पेश किया जाएगा।

समालखा के 86 लाख रुपये की शराब चोरी के मामले में नाम जुड़ा, छह लोग पहले हो चुके हैं गिरफ्तार

बताया जाता है कि सतविंदर राणा का नाम पानीपत में समालखा के एल-1 गोदाम से 86 लाख की शराब चोरी के मामले से जुड़ रहा है। दरअसल, इस मामले में अब तक छह लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इनमें हरियाणा पुलिस का एक सिपाही भी है। कारोबार में हिस्सेदार सोनीपत का शामड़ी गांव वासी ईश्वर सिंह चोरी का मुख्य सरगना था। यह गाेदाम ईश्‍वर सिंह है ओर सतविंदर राणा इसमें हिस्‍सेदार बताए जाते हैं। वार्ता प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया है कि गोदाम से करीब 4500 पेटी शराब चोरी की गई थी।

सतविंदर राणा राजौंद से दो बार विधायक रहे, पिछले विधानसभा चुनाव में जेजेपी टिकट पर हार गए थे

जानकारी के अनुसार, हरियाणा एमएलए हॉस्टल में देर रात पानीपत क्राइम ब्रांच की टीम ने रेड की। इसमें शराब तस्करी के मामले में पूर्व विधायक सतविंदर राणा को गिरफ्तार कर लिया गया। थाना प्रभारी जसपाल सिंह के अनुसार क्राइम ब्रांच की टीम ने एक आरोपित की गिरफ्तारी की परमिशन लेकर रेड की थी। क्राइम ब्रांच टीम पूछताछ के लिए देर रात ही लेकर निकल गई थी। इस रेड में चंडीगढ़ पुलिस कर्मी शामिल नहीं थे।

जानकारी के अनुसार, इससे पहले रोहतक की क्राइम ब्रांच से इंस्पेक्टर प्रवीण के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने सेक्टर 50 की ट्रांसपोर्ट कोऑपरेटिव सोसायटी के एक शराब तस्करी के मामले में रेड की थी। रेड के दौरान क्राइम ब्रांच को 90 लाख रुपए की नगदी, पिस्टल और लग्जरी गाड़ी बरामद हुई थी।

पूर्व एमएलए सतविंदर राणा को पहले चेक बाउंस के मामले में कोर्ट में उपस्थित न होने के कारण भगोड़ा घोषित किया जा चुका है। पंचकूला की जिला अदालत ने 30 अक्टूबर 2018 को चंडीगढ़ निवासी संदीप सेठी को दिए गए 40 लाख रुपये के चार चेक बाउंस होने पर राणा को भगोड़ा घोषित किया था।

सतविंदर राणा राजौंद से दो बार एमएलए रह चुके हैं और 2019 का विधानसभा चुनाव उन्होंने कलायत विधानसभा क्षेत्र से जेजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में राणा ने 37 हजार वोट प्राप्त किया था। राजौंद हल्का खत्म होने के बाद राणा ने अपनी राजनीति कलायत से करनी शुरू की और इन्हें जननायक जनता पार्टी का राजपूत चेहरा भी माना जाता है। 2019 के विधानसभा चुनावों से पहले कलायत से टिकट की गारंटी पर ही सतविंदर राणा जेजेपी में शामिल हुए थे।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *