सुशांत केस में हर कोई TRP बटोरने में व्‍यस्‍त, शोक किसी को नहीं: मनोज

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत के को-स्‍टार रह चुके मनोज बाजपेयी उन लोगों में से हैं, जिन्‍होंने 14 जून को एक्‍टर की मौत के बाद सबसे पहले आवाज उठाई थी। मनोज कहते हैं कि उन्‍हें अब ये भी शक होने लगा है कि शायद ही कोई उनके जाने से शोक में है।
सुशांत सिंह राजपूत केस में जहां सीबीआई जांच का सारा दारोमदार अब AIIMS की फॉरेंसिक रिपोर्ट पर है, वहीं नारकोटिक्‍स ब्‍यूरो भी ड्रग एंगल की जांच में जुटी हुई है लेकिन तमाम आशंकाओं, संभावनाओं और चर्चाओं के बीच सुशांत की मौत को अब 3 महीने से अध‍िक वक्‍त बीत गया है। ‘सोन चिड़िया’ में सुशांत के को-स्‍टार रहे मनोज बाजपेयी का कहना है कि वह सुशांत की मौत से दुखी हैं लेकिन उन्‍हें यह भी शक है कि शायद ही कोई उनके जाने के गम में शोक मना रहा है।
‘सब TRP बटोर रहे हैं’
एक वेबसाइट से बातचीत में मनोज बाजपेयी ने कहा, ‘मैं पर्सनली सुशांत के जाने से बहुत दुखी हूं लेकिन मुझे शक है कि सही मायने में कोई उसकी मौत के गम में शोक मना रहा है। हर कोई सुशांत के बाद TRP बटोरने की होड़ में हैं। लोग लगातार इसको लेकर चर्चा का विषय बदल रहे हैं।’
‘बहुत से लोगों का इसमें स्‍वार्थ छ‍िपा है’
मनोज बाजपेयी ने आगे कहा कि बहुत लोगों का इसमें स्‍वार्थ छिपा है। वह कहते हैं, ‘मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि लोगों के इस मामले में अपने स्‍वार्थ हैं। मुश्‍क‍िल से ही कोई इस बात पर विचार कर रहा है कि दिवंगत सुशांत कोडिंग के साथ कैसे जुड़े रहते थे।’
‘हर बात की चर्चा हो रही, लेकिन सुशांत पीछे छूट गया’
मनोज बताते हैं कि सोशल मीडिया खासकर ट्विटर और इंस्‍टाग्राम पर सुशांत को लेकर तमाम बातें हो रही हैं। हर अपडेट वहां मिल जाता है, लेकिन इन सब में कहीं ना कहीं सुशांत को पीछे छोड़ दिया गया है। मनोज ने कहा कि सुशांत के परिवार ने बहुत कुछ खो दिया है।
‘शेखर कपूर तो अभी भी भरोसा नहीं कर पा रहे’
मनोज बताते हैं कि फिल्‍ममेकर शेखर कपूर के पास भी कहने को बहुत कुछ है। हालांकि, जो कुछ भी वह कहते हैं वह एक अलग एंगल से माना जाएगा, जबकि वह अभी भी विश्वास नहीं कर पा रहे हैं कि सुशांत अब हम सभी के साथ मौजूद नहीं हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *