महाराष्ट्र का बजट सत्र बीच में ही खत्‍म, बिना किसी चर्चा के पास

मुंबई। सीमा पर भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। ऐसे में सरकार और विपक्षी दल भी साथ आ रहे हैं। इसी कड़ी में महाराष्ट्र का बजट सत्र बीच में ही खत्म कर दिया गया और बजट बिना किसी चर्चा के पास कर दिया गया। वहीं, इंटेलिजेंस इनपुट्स के बाद शहर के 12 मेट्रो स्टेशन पर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। तनावपूर्ण हालात में मुंबई पर किसी भी तरह के संभावित खतरे को देखते हुए यह फैसला किया गया। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विपक्षी दलों और पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक में बजट सत्र को पहले खत्म करने का प्रस्ताव पेश किया था। सत्र 25 फरवरी को शुरू किया गया था और 2 मार्च तक चलना था।
बिना बहस पास बजट, सत्र खत्म
राज्य के वित्त मंत्री सुधीर मुंगतीवार ने बुधवार को 2019-20 का एक अंतरिम बजट पेश किया था जिसमें 19,784 करोड़ रुपये के अनुमानित राजस्व घाटे का अनुमान व्यक्त किया गया था और कृषि ऋण माफी के लिए विशेष कोष का प्रावधान किया गया था। विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल और एनसीपी सदस्य अजीत पवार और जयंत पाटिल ने कहा कि वे अंतरिम बजटीय प्रावधानों पर अपने भाषणों को सदन के पटल पर रख रहे हैं। विनियोग विधेयक और लेखानुदान को बिना किसी बहस के सर्वसम्मति से पास कर दिया गया। नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) और लोक लेखा समिति (पीएसी) की रिपोर्ट को भी सदन के पटन पर रखा गया।
सुरक्षा में पुलिसकर्मी, हाई अलर्ट
बता दें कि पाकिस्तान की गिरफ्त में भारतीय वायुसेना के एक पायलट के कैद होने से हालात बेहद गंभीर हो गए हैं। बजट सत्र पहले खत्म करने से उसमें व्यस्त करीब 6,000 पुलिसकर्मियों को शहर की सुरक्षा पर तैनात किया जा सकेगा। मुंबई में करीब 40 ऐसी जगहें जिन्हें आसानी से निशाना बनाया जा सकता है। ऐसे में वहा अतिरिक्त सुरक्षा की जरूरत पड़ेगी। भारत की ओर से मंगलवार को की गई एयर स्ट्राइक के बाद मुंबई पुलिस ने स्टेट रिजर्व पुलिस फोर्स और रैपिड ऐक्शन फोर्स के साथ संवेदनशील इलाकों से फ्लैग मार्च निकाले।
जल, थल, वायु तीनों सेना मुस्तैद
नेवी ने राज्य से गेटवे ऑफ इंडिया पर जॉ राइड्स बंद करने के लिए कहा है। भाभा अटॉमिक रीसर्च सेंटर और तारापुर अटॉमिक स्टेशन की सुरक्षा बढ़ा दी गई है और एयर डिफेंस सिस्टम को हाई अलर्ट पर रखा गया है। वेस्टर्न नेवल कमांड के जहाजों को समुद्र में तैनात कर दिया गया है। महाराष्ट्र के मछुआरों को भी निर्देश दिए गए हैं कि गुजरात न जाएं और गुरात के मछुआरों को इंटरनेशनल मैरिटाइम बाउंड्री लाइन क्रॉस नहीं करने के लिए कहा गया है। किसी भी तरह की संदिग्ध गतिविधि की जानकारी देने के लिए कहा गया है।
-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *