चुनाव आयोग करेगा मप्र में ईवीएम और VVPAT पर्चियों का मिलान

VVPAT की पर्ची का मिलान ईवीएम के कंट्रोल यूनिट में प्रदर्शित संख्या से किया जाएगा

भोपाल। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र की ईवीएम और VVPAT (वोटर वैरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) की पर्ची का मिलान किया जाएगा। यह निर्णय भारत निवार्चन आयोग के निर्देश के तहत लिया गया है।

मध्य प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव (MP Election 2018) में मतगणना के दौरान प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र की ईवीएम और वोटर वैरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल (VVPAT) की पर्ची का मिलान किया जाएगा। यह निर्णय भारत निवार्चन आयोग के निर्देश के तहत लिया गया है।

मुख्य निवार्चन पदाधिकारी (सीईओ) कायार्लय से दी गई जानकारी के अनुसार, मतगणना में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक मतदान केंद्र का चुनाव रेंडम आधार पर किया किया जाएगा। चयनित मतदान केंद्र में उपयोग में लाए गए VVPAT की पर्ची का मिलान ईवीएम के कंट्रोल यूनिट में प्रदर्शित संख्या से किया जाएगा। यह कार्य उम्मीदवार, निवार्चन अभिकर्ताओं एवं केंद्रीय प्रेक्षक की उपस्थिति में होगा। इसकी वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी।

सीईओ कार्यालय के अनुसार, मतगणना कक्ष के अंदर ही वीवीपेट की पर्ची से वोट का सत्यापन होगा। इस मतगणना के लिए वीवीपेट काउंटिंग बूथ ठीक वैसे ही तैयार किया जाएगा जैसा बैंकों में होता है। इसके लिए निवार्चन अधिकारी द्वारा सभी उम्मीदवारों को पूर्व में ही सूचना दी जाएगी। मतदान केंद्र के चयन के लिए सफेद कागज की पर्ची पर मतदान केंद्रों के नंबर लिखकर कंटेनर में डाले जाएंगे और पर्ची निकालकर केंद्र का रेंडम चयन होगा। यह कार्य ईवीएम से गणना के अंतिम राउंड के तत्काल पश्चात किया जाएगा। यह कार्य केंद्रीय प्रेक्षक की उपस्थिति एवं कड़ी निगरानी में होगा।

मालूम हो कि मध्य प्रदेश की सभी 230 सीटों पर 28 नवंबर को हुए मतदान में 75 फीसदी वोटिंग हुई थी वहीं मध्य प्रदेश समेत पांचों राज्यों के नतीजों का ऐलान 11 दिसंबर को होगा।
-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *