ईज ऑफ डूइंग बिजनेस: भारत ने टॉप 20 में जगह बनाई

नई दिल्ली। किसी भी देश की आर्थिक वृद्धि के लिए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस यानी कारोबार सुगमता बेहद महत्वपूर्ण होता है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के क्षेत्र में सबसे अधिक सुधार की सूची में भारत ने टॉप 20 में अपनी जगह बना ली है। चार क्षेत्रों में- नया बिजनेस शुरू करना, दिवालियेपन का समाधान करना, सीमा पार व्यापार और कंस्ट्रक्शन परमिट्स में भारत ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को आसान किया है, जिसके चलते विश्व बैंक की सूची में भारत टॉप 20 देशों में शामिल रहा।
इन देशों ने भी किया अच्छा प्रदर्शन
विश्व बैंक ने टॉप-20 परफॉर्मर्स की सूची जारी की है। हालांकि अपनी फाइनल रैंकिंग विश्व बैंक 24 अक्तूबर को जारी करेगा। विश्व बैंक ने कहा कि टॉप 20 की सूची 10 विभिन्न नियामक क्षेत्रो में सुधार पर आधारित है। भारत के अतिरिक्त अच्छा प्रदर्शन करने वाले देशों की सूचा में चीन, म्यांमार और बांग्लादेश शामिल है।
2018 में 77वें स्थान पर था भारत
पिछले साल यानी 2018 में भारत इस सूची में 77वें स्थान पर था, 2017 में भारत 100वें स्थान पर था और अब अर्थव्यवस्था में सुस्ती को लेकर आलोचनाएं झेल रही केंद्र सरकार के लिए टॉप 20 में शामिल होना राहत भरी खबर है।
ऐसा है पाकिस्तान का हाल
वहीं बात अगर पाकिस्तान की करें तो पाकिस्तान ने छह क्षेत्रों में सुधार किया है। इनमें नया बिजनेस शुरू करना, कंस्ट्रक्शन परमिट्स के साथ डीलिंग, संपत्तियों का रजिस्ट्रेशन, करों का भुगतान करना और सीमा पार व्यापार को बढ़ावा देना शामिल है।
इसलिए आसान हो गया है बिजनेस करना
रिपोर्ट के मुताबिक इन-कॉर्पोरेशन फॉर्म और इलेक्ट्रॉनिक मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन को भरने में लगने वाली फीस को खत्म किए जाने के कारण अब नया बिजनेस शुरू करना आसान हो गया है।
भारत ने 48 सुधारों को किया लागू
साल 2003-04 से भारत ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए 48 सुधारों को लागू किया है। विश्व बैंक के मुताबिक भारत की इस साल की उपलब्धि कई सालों के सुधार के प्रयास पर टिकी हुई है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *