अमिताभ बच्चन के इस बार केबीसी होस्ट कर पाने पर संशय

मुंबई। देश का सबसे चर्चित और लोकप्रिय टीवी गेम शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ इन दिनों फिर सुर्खियों में है. इसके 12वें सीजन में भाग लेने की प्रक्रिया पिछले कुछ दिनों से लगातार चल रही है.
लॉकडाउन के बावजूद जब मुंबई में सीरियल और फिल्मों की शूटिंग बंद थी, तब भी अमिताभ बच्चन अपने घर से ही दर्शकों से सवाल पूछ रहे थे. इसके प्रोमो शूट भी अमिताभ ने पहली बार घर से ही किया है.
इस बार इसमें भाग लेने के लिए पंजीकरण तो ऑनलाइन था ही, सवालों के जवाब भी पहले की तरह ऑनलाइन थे.
इस टीवी शो के इतिहास में पहली बार दर्शक इसके ऑडिशन यानी सामान्य ज्ञान परीक्षा और वीडियो प्रस्तुति भी घर बैठे ऑनलाइन ही करेंगे. इसके बाद इस तमाम प्रक्रिया का अंतिम चरण पर्सनल इंटरव्यू भी वीडियो कॉल के माध्यम से ही होगा.
केबीसी को लेकर एक सबसे बड़ा सवाल अभी भी बना हुआ है. वह यह कि क्या अमिताभ बच्चन इस बार का केबीसी शो होस्ट कर पाएँगे या नहीं?
महाराष्ट्र सरकार ने शूटिंग के नए नियमों में एक ऐसी शर्त जोड़ दी है जिससे अमिताभ बच्चन यह शो होस्ट नहीं कर सकते. वह नया नियम यह है कि कोरोना काल के चलते 10 साल से कम और 65 साल से अधिक उम्र के व्यक्ति न शूटिंग कर सकेंगे और न सेट पर मौजूद रह सकेंगे.
बहरहाल, ढेर सारे सख़्त नियमों का तो जैसे-तैसे पालन करके कुछेक सीरियलों की शूटिंग पिछले दिनों शुरू भी हो गई है लेकिन केबीसी की शूटिंग के लिए सबसे बड़ी समस्या यही है कि अमिताभ बच्चन की उम्र 77 साल है इसलिए उनके साथ केबीसी की शूटिंग हो तो कैसे हो?
फिल्म टीवी कार्यक्रम निर्माताओं की संस्थाओं ने राज्य सरकार से इन सख्त नियमों में ढील देने की अपील की है जिसमें सबसे बड़ी समस्या कलाकारों की उम्र की है लेकिन सरकार ने अभी तक ऐसी कोई भी ढील नहीं दी है.
इसीलिए पिछले दिनों दबे स्वरों में यह बात भी चल रही थी कि अगर सरकार ने कलाकारों की उम्र के नियम को नहीं हटाया तो इस बार केबीसी में अमिताभ बच्चन की जगह किसी और कलाकार को लिया जा सकता है.
केबीसी बग़ैर बिग बी?
कुछ समय से खबरें उड़ती रही हैं कि मजबूरन सोनी चैनल को अमिताभ बच्चन का विकल्प खोजना होगा.
असल में देखा जाए तो केबीसी की सफलता और लोकप्रियता का बड़ा कारण अमिताभ बच्चन हैं, चाहे केबीसी में 7 करोड़ रुपए तक जीतने का बड़ा आकर्षण हो लेकिन इसी बहाने अमिताभ बच्चन के सामने बैठने का आकर्षण भी कुछ कम नहीं है.
इस साल के केबीसी की एक बड़ी और ख़ास बात यह भी है कि अब यह केबीसी 20 साल का हो गया है. यूँ यह इसका 12वाँ सीजन है लेकिन केबीसी का पहला सीजन 3 जुलाई 2000 को स्टार प्लस पर शुरू हुआ था.
ब्रिटेन के मशहूर शो ‘हू वांट्स टू बी ए मिलेनियर’ की सफलता को देख तब स्टार प्लस ने इसके भारतीय संस्करण को ‘कौन बनेगा करोड़पति’ के नाम से पेश किया था.
अमिताभ बच्चन को जब इस शो को होस्ट करने का प्रस्ताव स्टार प्लस ने दिया तो वह दुविधा में थे कि वह टीवी शो करें या नहीं क्योंकि तब तक बड़े फ़िल्म स्टार टीवी पर आने में काफ़ी परहेज़ करते थे जबकि अमिताभ बच्चन उन दिनों अपनी ज़िंदगी के बुरे दौर से गुज़र रहे थे. 1991 के बाद ही उनका चमकता-दमकता फ़िल्म करियर ढलान पर आने लगा था. आर्थिक समस्याएँ उन्हें बुरी तरह जकड़े हुए थीं.
अमिताभ को कई लोगों ने सलाह दी कि वह भूलकर भी टीवी पर न आएँ वर्ना जो कुछ थोड़ा बहुत नाम-काम बचा है, वह भी हाथ से निकाल जाएगा. लेकिन अमिताभ को जब चैनल ने इसे होस्ट करने के लिए अच्छी ख़ासी रक़म की पेशकश की तो अमिताभ ने इसके लिए हाँ कर दी.
उसके बाद जो हुआ वह सब जानते हैं. केबीसी ने भारतीय टेलीविज़न का चेहरा तो रातों रात बदल ही दिया. उधर स्टार प्लस चैनल भी सर्वाधिक लोकप्रिय चैनल बन गया. अमिताभ के सितारे तो ऐसे बदले कि उनकी लोकप्रियता 1970-1980 के दशक से भी कहीं अधिक हो गई.
केबीसी के पहले सीजन के कुल 288 एपिसोड प्रसारित हुए थे. इस दौरान केबीसी देश भर में तो लगातार लोकप्रियता के नए आयाम बनाता ही रहा. यहाँ तक इसकी सफलता की गूंज विश्व के कई देशों में पहुँच गई.
केबीसी के अब तक 11 सीजन प्रसारित हो चुके हैं. इनमें से सिर्फ़ तीसरे सीजन को अमिताभ ने होस्ट नहीं किया. बाक़ी 10 सीजन अमिताभ ही होस्ट करते आ रहे हैं.
स्टार प्लस के साथ अमिताभ बच्चन ने पहले दो सीजन किए थे लेकिन दूसरे सीजन के अमिताभ कुल 85 में से 61 एपिसोड ही कर पाए क्योंकि वह दूसरे सीजन के दौरान ही अचानक गंभीर रूप से बीमार पड़ गए. जिससे दूसरा सीजन वह पूरा नहीं कर सके.
अमिताभ के स्वस्थ होने के बाद भी स्टार प्लस ने यकायक अमिताभ की जगह शाहरुख ख़ान को होस्ट लेकर, केबीसी का तीसरा सीजन शुरू कर दिया.
शाहरुख खान को तब चाहे किंग खान कहा जाता था और तब वह बॉक्स ऑफिस के बादशाह भी थे लेकिन केबीसी के होस्ट के रूप में शाहरुख, अमिताभ जैसा जादू चलाने में ज़रा भी सफल नहीं हुए.
तीसरे सीजन की नाकामी देख स्टार प्लस का भी केबीसी से मोहभंग-सा हो गया. एक बार लगा कि शायद अब केबीसी की वापसी नहीं होगी लेकिन 2010 में अमिताभ बच्चन के 68 वें जन्म दिन पर 11 अक्तूबर के दिन सोनी चैनल ने अमिताभ के साथ ही एक बार फिर से केबीसी की शुरुआत कर दी.
एक अंतराल के बाद आए केबीसी के इस चौथे सीजन ने फिर से दर्शकों का ऐसा दिल जीता कि आज तक वह जादू, वह लोकप्रियता बरकरार है.
क्या कहना है चैनल का?
सोनी चैनल के सीईओ एनपी सिंह ने कहा “सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार 65 बरस की आयु के कलाकारों का शूटिंग में हिस्सा न लेना निश्चय ही हमारे लिए बड़ी चुनौती है लेकिन हमारी टीम इस पर काम कर रही है. मुझे लगता है कोई न कोई हल निकल आएगा.”
क्या इस चुनौती के चलते केबीसी इस बार समय से शुरू हो सकेगा? इस पर एनपी सिंह बताते हैं, “हमारी अभी तक की योजना और तैयारियाँ केबीसी को समय से शुरू करने की हैं. अमित जी से भी इस बारे में हमारी लगातार बातचीत चल रही है. मुझे लगता है यह समय से शुरू हो जाएगा.”
अगर समय रहते कोई हल नहीं निकला तो क्या आप अमिताभ बच्चन की जगह किसी और को भी होस्ट ले सकते हैं?
इसके जवाब में एनपी सिंह कहते हैं-“नहीं, नहीं, नहीं. बच्चन साहब को केबीसी से दूर रखना बहुत बड़ी बात है इसलिए इसका कोई न कोई हल निकालना ज़रूरी होगा.”
मान लीजिए हल नहीं निकल पाया तो, मेरे इस सवाल पर एनपी सिंह मुस्कुराते हुए कहते हैं “आपको एक बात बता दूँ कि अमित जी के बिना हम केबीसी का सोच भी नहीं सकते. इसलिए इस वक्त बहुत सारे विकल्पों पर हम काम कर रहे हैं. जिससे उनके साथ ही शूटिंग संभव हो सके.”
वे आगे कहते हैं- “पर अभी उन संभावनाओं और कोशिशों पर कुछ कहना जल्दबाज़ी होगी. लेकिन अमिताभ जी को हम रिप्लेस नहीं करेंगे. कोई न कोई ऐसा हल निकालेंगे, जो सभी तरह से सही हो.”
सोनी चैनल किन किन विकल्पों पर काम कर रहा है. यह तो एनपी सिंह नहीं बताते. लेकिन वह जिस तरह इसे समय से शुरू करने और अमिताभ बच्चन के साथ ही शुरू करने के लिए कॉन्फिडेंट हैं. उससे साफ है कि उनके पास कोई मज़बूत विकल्प उपलब्ध है.
एक विकल्प यह हो सकता है कि केबीसी की शूटिंग मुंबई में न करके महाराष्ट्र राज्य से बाहर ऐसे शहर में की जाए. जहाँ न अब शूटिंग पर प्रतिबंध हो और वहाँ वरिष्ठ आयु के कलाकारों को शूटिंग करने की अनुमति हो.
ऐसे शहरों में हैदराबाद, कोलकाता, बंगलुरु में से कोई भी हो सकता है यानी अगर महाराष्ट्र सरकार ने उम्र सीमा को लेकर अपने नियम नहीं बदले तो यह पहला मौक़ा होगा, जब केबीसी की शूटिंग मुंबई से बाहर होगी.
केबीसी की मुंबई की जगह हैदराबाद में शूटिंग करना कुछ खास मुश्किल नहीं हैं. फ्लाइट से मुंबई से हैदराबाद की दूरी सिर्फ डेढ़ घंटे की है. फिर वहाँ का अत्याधुनिक, भव्य, विशाल रामोजी फिल्मसिटी स्टूडियो केबीसी के लिए भी बहुत अनुकूल है.
वैसे तो तेलंगाना सरकार ने वहाँ भी शूटिंग के लिए कई शर्तें लगाई हुईं है. जिसमें 60 से अधिक उम्र के लोगों की शूटिंग यूँ तो मना है. लेकिन ‘मेडिकल क्लीरेंस’ के बाद 60 से अधिक उम्र के लोग शूटिंग कर सकते हैं इसीलिए अमिताभ बच्चन मेडिकल प्रमाणपत्र के साथ हैदराबाद में शूटिंग कर सकते हैं.
केबीसी का जैसा सेट मुंबई की फिल्म सिटी में लगता है, वैसा सेट हैदराबाद की रामोजी फिल्म सिटी में लग सकता है.
इस बार यह संभावना भी प्रबल हो रही है कि इस बार केबीसी के सेट पर आम दर्शक मौजूद ही न रहें क्योंकि मुंबई हो या हैदराबाद, कहीं भी अभी तक कुल मिलाकर कम-से-कम लोगों की मौजूदगी के साथ ही शूटिंग की इजाजत है. वह भी सोशल डिस्टेन्सिंग के साथ.
यदि ऐसा रहा तो इस बार ऑडियंस पोल की लाइफलाइन भी ख़त्म हो सकती सकती है, या फिर उसका स्वरूप बदल सकता है. इस सबसे इतना तय है कि इस बार का केबीसी काफ़ी बदला बदला और पहले से अलग किस्म का होगा.
हो सकता है हॉट सीट पर अमिताभ बच्चन और प्रतियोगी के बीच शीशे की दीवार हो, या फिर यह भी कि हॉट सीट पर विराजमान प्रतियोगी के चेहरे पर मास्क लगा हो और अमिताभ बच्चन भी मास्क पहनकर ही प्रतियोगी से सवाल पूछ रहे हों.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *