डॉक्टर आम: कोरोना योद्धाओं के नाम ‘आम’ की नई वैराइटी

लखनऊ। एक ही पेड़ पर तीन सौ से अधिक प्रजाति के आम तैयार कर देश-विदेश में मलिहाबाद का नाम रोशन करने वाले मैंगो मैन पदमश्री कलीमुल्ला ने इस बार कोरोना योद्धाओं के नाम आम की नई वैराइटी तैयर की है ज‍िसका नाम डॉक्टर आम रखा है।

इससे पहले उन्होंने 2008 में ममता आम तैयार क‍िया था। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को समर्पित यह आम दिखने में काफी आकर्षक है। लंबे आकार के इस आम की गुठली बहुत छोटी व इसमें काफी मात्रा में बिना रेशे का पतला गूदा होता है। सुनहरे पीले रंग के इस एक आम का वजन करीब एक किलो है। तब कलीमुल्ला ने बताया था कि पांच वर्ष के पौधे में करीब दो दर्जन आम लगे, इस आम को दशहरी और मलिका प्रजाति से क्रॉस करके तैयार किया गया ।

अब इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण की लड़ाई में मरीज़ों की जान बचाने वाले डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टॉफ के नाम पर दसहरी आम की नई वैराइटी बनाई है। आम की नई वैराइटी का नाम उन्होंने ‘डॉक्टर आम’ रखा है।

हाजी कलीमुल्लाह इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी, सचिन तेंदुलकर, ऐश्वर्या राय, योगी आदित्यनाथ, अमिताभ बच्चन के नाम पर आम के नाम रख चुके हैं। वो कहते हैं जब ये आम सबके सामने आएगा तो वो डॉक्टर याद किए जाएंगे जिन्होंने अपनी जान हथेली पर लेकर लोगों को बचाया और खुद चले गए। ये उनको जिंदा रखेंगे।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का खतरा थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा आंकड़ों के अनुसार शनिवार सुबह 14 और मरीजों में कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया। इसी के साथ प्रदेश में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 2342 पर पहुंच गई है। इससे पहले शुक्रवार को कोरोना संक्रमण के 116 नए केस सामने आए थे।

उत्तर प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में अभी 1632 कोरोना संक्रमितों का इलाज चल रहा है जबकि 654 मरीज इलाज के बाद ठीक होकर घर लौट चुके हैं। कुल कोरोना मरीजों में तबलीगी जमात और इनसे संबद्ध व्यक्तियों की संख्या 1117 है। तबलीगी जमात की ये संख्या प्रदेश के कुल मरीजों की संख्या का 48 प्रतिशत है। प्रदेश में तबलीगी जमात के कारण मरीजों की संख्या तेजी से इजाफा हुआ है।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *