ईसाई धर्म प्रचारक पॉल दिनाकरन पर 118 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का खुलासा

नई दिल्‍ली। आयकर विभाग को तमिलनाडु के ईसाई धर्म प्रचारक पॉल दिनाकरन के ठिकानों से 118 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का खुलासा हुआ है।
आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक दिनाकरन की संस्थाओं पर कर चोरी का आरोप है। इसी सिलसिले में विभाग ने उनके 25 ठिकानों पर छापा मारा था जिसमें 118 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का खुलासा हुआ है। चेन्नई और कोयंबटूर में दिनाकरन की संस्था Jesus Calls Ministries से जुड़े 25 ठिकानों पर 20 जनवरी को छापा मारा गया था।
दिनाकरन इस क्रिश्चियन मिशनरी के प्रमुख है। इसका कामकाज कई दूसरे देशों में भी फैला है। दिनाकरन Karunya University (deemed) के चांसलर हैं। टैक्स डिपार्टमेंट के सूत्रों ने बताया कि दिनाकरन के ठिकानों पर छापे की कार्यवाही शनिवार को खत्म हो गई। डिपार्टमेंट को कोयंबटूर में दिनाकरन के आवास से 4.7 किलो सोना भी मिला है जिसे जब्त कर लिया गया है। साथ ही 118 करोड़ रुपये की अवैध संपत्ति का भी पता चला है। छापे के दौरान मिले दस्तावेजों के वेरिफिकेशन का काम चल रहा है।
तमिलनाडु में खासा प्रभाव
दिनाकरन के ठिकानों पर छापेमारी की कार्यवाही 20 जनवरी को सुबह 6 बजे शुरू हुई थी। इसमें इनकम टैक्स विभाग के 200 से अधिक अधिकारी शामिल थे। अडयार में दिनाकरन के मेन ऑफिस से लेकर कोयंबटूर में उनके एजुकेशनल इंस्टीट्यूट तक छापा मारा गया था। माना जा रहा है कि विभाग के अधिकारी उनसे संगठन को मिले एफडीआई की भी जांच कर रहे हैं।
Jesus Calls Ministries और Karunya University की स्थापना पॉल दिनाकरन के पिता DGS Dhinakaran ने की थी। उनका 2008 में निधन हो गया था जिसके बाद दोनों संस्थानों की कमान पॉल दिनाकरन के हाथ में आ गई थी। उनके परिवार का तमिलनाडुमें खासा प्रभाव है और सभी सत्तारूढ़ दलों के साथ अच्छे रिश्ते रहे हैं। जब DGS Dhinakaran का निधन हुआ था तो तत्कालीन मुख्यमंत्री एम करुणानिधि और नेता प्रतिपक्ष जे जयललिता दोनों में शोक संवेदना व्यक्त की थी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *