नोएडा/ग्रेनोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे अथॉरिटी में व्याप्त भ्रष्टाचार की व्यापक जांच की मांग

logo-yamuna-express-way
नोएडा/ग्रेनोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे अथॉरिटी में व्याप्त भ्रष्टाचार की व्यापक जांच की मांग

नोएडा। मौलिक भारत के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के विकास ने आज मुख्यमंत्री उप्र को नोएडा/ग्रेनोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे अथॉरिटी में व्याप्त भ्रष्टाचार के विषय में पत्र लिखकर व्यापक जांच की मांग की।
उन्होंने अपने पत्र में लिखा कि वो कई वर्षो से नोएडा / ग्रे नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे अथारिटी में व्याप्त भ्रष्टाचारों के खिलाफ स्वयं तथा अपनी संस्था मौलिक भारत के माध्यम से आवाज उठाता चला आ रहे  हैं। यहाँ पर हुये  फार्म हाउस घोटाला , ग्रुप हाउसिंग घोटाला , व्यावसायिक भूमि ( Commercial Land) घोटाला , सिटी सेंटर घोटाला , DND  टोल घोटाला , यादव सिंह के द्वारा दिये गए ठेके के घोटाले , श्रम संविदा मजदूरों का घोटाला आदि को लखनऊ / दिल्ली / नोएडा में प्रेस वार्ता करके , लोकायुक्त में शिकायतें दर्ज करके , उच्च एवं उच्चतम न्यायलय में याचिकायें दायर करके उजागर कर चुका हूँ, यादव सिंह घोटाले में वर्तमान में सीबीआई जांच उनकी  संस्था के अथक प्रयासों के द्वारा ही संभव हो सकी है।
इससे पहले नोएडा अथारिटी के पूर्व  ओसडी यशपाल त्यागी के खिलाफ भी उन्होंने स्वयं उप्र लोकायुक्त के यहाँ ग्रुप हाउसिंग स्कैम के संबंध में शिकायत दर्ज करा चुके हैं।
के विकास ने अपने पत्र में लिखा कि नोएडा / ग्रे नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे अथारिटी में व्याप्त आकंठ भ्रष्टाचार में कुछ चुने हुये अधिकारी , बिल्डर , नेता , दलाल  आदि  के गठजोड़ शामिल रहा है।
पिछली बसपा तथा सपा सरकार  में इस गठजोड़ ने जमकर लूटपाट की है इस गठजोड़ में प्रमुख रूप से यादव सिंह , यशपाल त्यागी के अलावा आनंद कुमार ( तत्कालीन मुख्यमंत्री के भाई ), मोहिंदर सिंह (तत्कालीन अध्यक्ष )ललित विक्रम वसंतवानी (तत्कालीन बित्त निदेशक ) ,रमारमण (सी इ ओ ), मनोज अग्रवाल ( ग्रेट वैल्यू इन्फ्रा ), दीपक अग्रवाल ( एसडीएस इन्फ्रा ) , शक्ति नाथ (लोजिग्स ), पोंटी चड्डा (वेव इन्फ्रा ) व अन्य अफसर शामिल रहे हैं।

के. विकास ने अपने पत्र में लिखा कि इन लोगो में से कईयों के तार विदेशो से भी जुड़े रहे है तथा प्रवर्तन निदेशालय ने अपनी पत्र संख्या ECIR /54/DZ /2010/AD-SDS  Dt 10/2/2010 ( संलगन ) के माध्यम से इन अधिकारिओ के विषय में जानकारी भी मांगी थी !

के. विकास ने अपने पत्र में लिखा कि नोएडा / ग्रे नोएडा एवं यमुना एक्सप्रेस वे अथारिटी में व्याप्त भ्रष्टाचारों तथा पिछले 10 वर्षो में हुयी आकंठ लूट के खिलाफ एक सघन जांच की आवश्यकता है! इसके लिये  उन्होंने अनुरोध किया कि  वो   तीनो अथारिटीयों सीबीआई जाँच की अनुशंसा  करने की कृपा करे तथा उन्होंने मुख्यमंत्री को   आश्वासन दिया कि  इस विषय में जो भी जानकारी उनके  पास उपलब्ध होगी वो जांच एजेंसी को उपलब्ध कराएँगे ताकि दोषियों को कड़ी सजा मिल सके !

के. विकास ने अपने पत्र की प्रतिलिपि प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी तथा वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली को भी भेजी है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *