दिल्‍ली: 7 सितंबर से मेट्रो के संचालन को गाइडलाइंस जारी

नई दिल्‍ली। दिल्‍ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन DMRC ने 7 सितंबर से मेट्रो चलाने की कर दी हैं। 7 से 12 सितंबर के बीच चरणबद्ध तरीके से मेट्रो लाइनें शुरू होंगी।
भीड़ को कंट्रोल करने के लिए सभी स्‍टेशनों पर 800 अधिकारी/स्‍टाफ तैनात रहेंगे। अगर भीड़ बढ़़ी और सोशल डिस्‍टेंसिंग के नियम टूटे तो वे पैसेंजर्स की एंट्री को नियंत्रित या फिर रोक भी सकते हैं। स्‍टेशन और ट्रेन में लगे सीसीटीवी कैमरों के जरिए भी मॉनिटरिंग की जाएगी। स्‍टेशनों पर ट्रेन के रुकने के समय को बढ़ा दिया गया है। टर्मिनल स्‍टेशनों पर ट्रेन के दरवाजे खुले रखे जाएंगे ताकि ताजी हवा आ सके। फिलहाल टोकन सिस्‍टम को सस्‍पेंड कर दिया गया है।
मेट्रो में यात्रा से पहले जान लें ये बातें
-नए ट्रेवल प्रोटोकॉल्‍स के तहत एक्‍स्‍ट्रा टाइम लेकर घर से निकलें।
-30ml से ज्‍यादा मात्रा में हैंड सैनिटाइजर नहीं रख सकेंगे।
-कम से कम सामान लेकर चलें। धातु की चीजें न रखें।
-फीडर बस सर्विस नहीं मिलेगी।
-हर स्‍टेशन पर एक या दो गेट्स के जरिए ही एंट्री होगी। इसकी लिस्‍ट जल्‍द ही जारी की जाएगी।
-सभी यात्रियों के लिए फेस कवर/मास्‍क पहनना अनिवार्य होगा। आरोग्‍य सेतु ऐप इस्‍तेमाल करने की सलाह।
-हर स्‍टेशन के एंट्री पॉइंट पर थर्मल स्‍क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन से गुजरना होगा।
-कोविड-19 के लक्षणों या बुखार वाले लोगों को नहीं जाने दिया जाएगा। उन्‍हें नजदीकी मेडिकल सेंटर भेजा जाएगा।
-फ्रिस्किंग पॉइंट्स, कस्‍टमर केयर, AFC गेट्स समेत सभी जगहों पर निशान बनाए गए हैं ताकि सोशल डिस्‍टेंसिंग मेंटेन हो सके। यात्रियों को एक-दूसरे से हमेशा दूरी बनाए रखनी होगी।
-लिफ्ट में दो या तीन लोगों को ही जाने दिया जाएगा। एस्‍केलेटर्स पर यात्री एक स्‍टेप छोड़कर खड़े होंगे।
-टोकन्‍स से यात्रा नहीं हो पाएगी। सिर्फ स्‍मार्ट कोर्ड होल्‍डर्स (एयरपोर्ट लाइन पर QR कोड भी) को एंट्री मिलेगी। स्‍टेशन पर रिचार्ज भी सिर्फ कैशलेस मोड में होगा।
-नए स्‍मार्ट कार्ड भी कैशलेस मोड से ही खरीदे जा सकेंगे।
-मेट्रो स्‍टेशंस के भीतर दुकानें खुलेंगी लेकिन सोशल डिस्‍टेंसिंग के साथ।
ट्रेन के भीतर क्‍या रखें ध्‍यान?
-पैसेंजर्स को ऑल्‍टरनेट सीट (एक सीट छोड़कर) पर बैठना होगा। सीटों पर ‘यहां मत बैठिए’ के स्टिकर्स लगाए गए हैं। अगर खड़े हैं तो बाकी यात्रियों से कम से कम एक मीटर की दूरी बनानी होगी।
-हर स्‍टेशन पर ट्रेन के रुकने का समय 10 सेकेंड बढ़ा दिया गया है। इंटरचेंज स्‍टेशन पर ट्रेन 20 सेकेंड ज्‍यादा रुकेगी।
-टर्मिनल स्‍टेशनों पर ट्रेन सैनिटाइज होगी। दिनभर के बाद डिपो में लौटने पर भी सैनिटाइजेशन होगा।
-टर्मिनल स्‍टेशंस पर ट्रेनों के दरवाजे खुले रहेंगे ताकि ताजी हवा आ सके।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *