रक्षा मंत्री ने बताया, मुंबई जैसे हमले की तैयारी कर रहा है पाकिस्‍तान

मुंबई। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज इस आशय का संकेत दिया कि पाकिस्तान एक बार फिर 26/11 मुंबई जैसे हमले की तैयारी कर रहा है। राजनाथ ने कहा कि इस मंसूबे को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा।
रक्षा मंत्री ने कहा कि आईएनएस खंडेरी को शामिल किए जाने के बाद हम पाकिस्तान को और करारा जवाब देने के काबिल हैं।
दरअसल, आज समंदर में भारतीय नौसेना की ताकत में बड़ा इजाफा हुआ है। मुंबई के नेवल डॉक पर हुए कार्यक्रम में आईएनएस खंडेरी पनडुब्बी को नौसेना में शामिल किया गया। इसे दुश्मनों के लिए समुद्र में साइलंट किलर माना जा रहा है।
‘कुछ ताकतें मुंबई जैसे हमले दोबारा कराना चाहती हैं’
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘कुछ ऐसी ताकतें हैं जो भारत के तटीय क्षेत्र में मुंबई जैसे हमले दोबारा करना चाहती हैं लेकिन उनके मंसूबे पूरे नहीं होने दिए जाएंगे।’
रक्षा मंत्री ने मझगांव बंदरगाह शिपबिल्डर्स लिमिटेड में आईएनएस खंडेरी को नौसेना में शामिल किए जाने के बाद कहा कि क्षेत्र में शांति बाधित करने वाले लोगों के खिलाफ नौसेना कड़ी कार्यवाही करेगी।
INS खंडेरी हमारे लिए गर्व की बात: राजनाथ
आईएनएस खंडेरी पनडुब्बी को नौसेना में शामिल किए जाने पर राजनाथ ने कहा, ‘यह हमारे लिए बेहद गर्व की बात है कि भारत उन कुछ चुनिंदा देशों में शामिल हो गया है जो अपनी पनडुब्बी खुद बनाते हैं।’
राजनाथ सिंह ने इस मौके पर खुशी जताते हुए कहा, ‘आईएनएस खंडेरी की कमिशनिंग के मौके पर मैं मौजूद हूं, इसकी मुझे खुशी है।’
अपना मजाक उड़वा रहे हैं इमरान: राजनाथ
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर हमला करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि पाक पीएम अपना मजाक उड़वाने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं।
उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान को यह समझने की जरूरत है कि भारतीय नौसेना खंडेरी के शामिल होने के बाद पहले से ज्यादा मजबूत हुई है और सरकार सशस्त्र बलों को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है।’
संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के संबोधन के एक दिन बाद सिंह ने उन पर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान के प्रधानमंत्री दुनिया में हर दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं और अपना मजाक उड़वाने का कोई भी मौका नहीं छोड़ रहे हैं।’
विश्व की सबसे शांत पनडुब्बी
रेडार, सोनार, इंजन समेत इसमें छोटे बड़े 1000 से अधिक उपकरण लगे हुए हैं। इसके बावजूद बगैर आवाज किए यह पानी में चलने वाली विश्व की सबसे शांत पनडुब्बियों में से एक है। इस वजह से रडार आसानी से इसका पता नहीं लगा सकते हैं। इसे ‘साइलंट किलर’ भी कहते हैं।
शिवाजी महाराज के दुर्ग पर नामकरण
खंडेरी का नाम महान मराठा शासक छत्रपति शिवाजी महाराज के खंडेरी दुर्ग के नाम पर रखा गया है। इस दुर्ग या किले की खासियत यह थी कि यह एक जल दुर्ग था मतलब चारों और पानी से घिरा हुआ इसलिए दुश्‍मन के लिए अभेद्य था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *