रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने DRDO की एंटी कोविड दवा रिलीज़ की

नई दिल्‍ली। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने DRDO की बनाई एंटी कोविड दवा 2-डीजी की पहली खेप जारी कर दी है.
दवा रिलीज़ करने के बाद उन्होंने कहा, “मुझे बताया गया कि इसके प्रयोग से सामान्य उपचार की अपेक्षा लोग ढाई दिन जल्दी ठीक हुए हैं. साथ ही ऑक्सीजन पर निर्भरता भी लगभग 40 फ़ीसदी तक कम देखने को मिली है.”
रक्षा मंत्री ने इस दवा को कोविड-19 के ख़िलाफ़ जंग में आशा की एक नई किरण बताया है.
इस दवा का नाम है 2 डीऑक्सी- डी- ग्लूकोज जिसे संक्षेप में 2-डीजी भी कहा जा रहा है.
क्यों अहम है यह दवा?
2-डीजी दवा को डीआरडीओ के इंस्टीट्यूट ऑफ़ न्यूक्लियर मेडिसीन एंड एलाइड साइंसेज़ (इनमास) और दवा बनाने वाली कंपनी डॉक्टर रेड्डीज़ लैब ने मिलकर बनाया है.
इसे भारत में कोरोना मरीज़ों के लिए ‘पहली दवा’ बताया जा रहा है. 2-डीजी को भारत के दवा नियामक डीजीसीआई ने इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंज़ूरी दी थी.
देश में कोरोना संक्रमण के गंभीर मामलों और ऑक्सीजन संकट के मद्दनेज़र इस दवा को काफ़ी अहम माना जा रहा है.
कैसे बनी दवा?
कोरोना महामारी की पहली लहर के दौरान ही आईएनएमएएस-डीआरडीओ के वैज्ञानिकों ने पिछले साल अप्रैल के महीने में इस दवा के लैब ट्रायल्स शुरू किए थे.
इस काम में डीआरडीओ के वैज्ञानिकों की मदद हैदराबाद के सेंटर फ़ॉर सेलुलर ऐंड माइक्रो बायॉलजी लैब ने की.
उस दौरान पाया गया कि यह दवा कोरोना वायरस के ग्रोथ को रोकने में मददगार साबित हो सकती है.
आईएनएमएएस-डीआरडीओ के दो वैज्ञानिक डॉक्टर सुधीर चांदना और डॉक्टर अनंत भट्ट ने इस पर काम किया है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *