बढ़िया खाना और बढ़िया रम के लिए सेना में भर्ती हों दलित युवक: केंद्रीय मंत्री आठवले

पुणे। सेना में दलितों को आरक्षण देने की वकालत करते हुए केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले रविवार को एक अटपटा बयान दे बैठे। आठवले ने कहा कि देसी शराब के बजाए दलित युवकों को सेना में जाकर वहां की रम का इस्तेमाल करना चाहिए। वहां बढ़िया खाना भी मिलता है।
केंद्रीय सामाजिक अधिकारिता न्याय मंत्री आठवले ने कहा, ‘हमने हमेशा से दलित समुदाय के युवकों को आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में भेजे जाने की वकालत की है क्योंकि इस समुदाय का इतिहास बलिदान का रहा है।’
उनके इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी प्रवक्ता माधव भंडारी ने कहा, ‘आठवले लंबे समय से आरक्षण की मांग करते आ रहे हैं लेकिन एक जिम्मेदार केंद्रीय मंत्री होने के नाते उन्हें अपनी मांग प्रधानमंत्री के सामने या सीधे रक्षा मंत्री के सामने रखनी चाहिए।’
सैनिकों की शहादत पर बोलते हुए रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के नेता ने यह भी कहा कि जो सेना जॉइन करते हैं जरूरी नहीं कि वे शहीद हों। कई बार सैनिकों की मौत सड़क दुर्घटनाओं, हार्ट अटैक आदि से हो जाती है। इसलिए दलितों को यह नहीं सोचना चाहिए कि सेना में जाना शहीद होने के बराबर है।
-एजेंसी