भीषण तूफान में बदला चक्रवात Tauktae: तेज हवाओं के कारण 7 लोगों की मौत, सैकड़ों घर गिरे

मुंबई। देश के दक्षिण और पश्चिमी राज्यों में चक्रवात ‘ताउते’ बेहद भीषण तूफान में बदल गया है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान दक्षिण भारत में भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण 7 लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों घर ढह गए। अब चक्रवात महाराष्ट्र और गुजरात की ओर बढ़ रहा है। इस कारण दक्षिण पश्चिम रेलवे, दक्षिण रेलवे और पश्चिम रेलवे को कुछ ट्रेनें आंशिक या पूरी रद्द करनी पड़ीं हैं।
टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक तूफान के चलते सोमवार को मुंबई में कोरोना के टीके भी नहीं लगाए जाएंगे। ताउते तूफान के चलते मुंबई एयरपोर्ट पर 11 बजे से लेकर 4 बजे तक सभी ऑपरेशन बंद रहेंगे।
चक्रवाती तूफान की वजह से से मुंबई में बांद्रा-वर्ली सी लिंक को अगले आदेश तक आवागमन के लिए बंद रखा गया है। बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने लोगों से वैकल्पिक मार्ग अपनाने की अपील की है। चक्रवाती तूफान की वजह से मुंबई में कई इलाकों में सोमवार को भारी बारिश हो रही है। कई जगहों पर तेज हवाओं की वजह से पेड़ गिरे और समुद्र में ऊंची लहरें देखने को मिली। मुंबई के गेट वे ऑफ इंडिया के पास पानी सड़कों पर आ रहा है।
भारी बारिश के बीच हालात का जायजा लेने निकलीं मुंबई की मेयर
चक्रवाती तूफान ताउते के चलते मुंबई में भारी बारिश हो रही है। इस दौरान कई जगहों पर पेड़ गिरे हैं। अकेले मुंबई में पेड़ गिरने की 132 घटनाएं सामने आ चुकी हैं। नवी मुंबई में 8, कल्‍याण-दोम्बिवली में 22 और ठाणे में 28 जगहों पर पेड़ गिरने की खबर है। उधर, मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने वर्ली सी फेस एरिया और दादर सहित अन्य जगहों पर जाकर हालात का जायजा लिया।
मुंबई में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश
महाराष्‍ट्र की तरफ बढ़ रहे साइक्‍लोन का असर दिख रहा है। मुंबई में तेज हवाओं के साथ खूब बारिश हो रही है। मुंबई के जोगेश्वरी इलाके में तूफान और बारिश से हाल बेहाल है। भारी बारिश के बाद कई इलाकों में पानी भर गया है। जलजमाव की समस्या हो गई है। उधर, मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सोमवार को मुंबई, ठाणे और अन्‍य तटवर्ती जिलों के हालात का जायजा लिया। 12 हजार से ज्‍यादा नागरिकों को तटीय इलाकों से सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया है। सीएम आज दोपहर राज्‍य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ बैठक भी करेंगे।
मुंबई, उत्तरी कोकण, ठाणे और पालघर के हिस्सों में भारी बारिश
मौसम विभाग की माने तो सोमवार को महाराष्ट्र के मुंबई, उत्तरी कोकण, ठाणे और पालघर के हिस्सों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है। इस तूफान के उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने और 17 मई की शाम तक गुजरात तट पर पहुंचने की संभावना है।
गुजरात के इन इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी
आईएमडी ने कहा कि Tauktae Cyclone के उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और आज शाम गुजरात तट तक पहुंचने की संभावना है। रात 8 से 11 बजे के बीच तूफान पोरबंदर और महुवा (भावनगर जिला) के बीच बहुत विकराल रूप में पार हो सकता है। इस दौरान 155-165 किमी प्रति घंटे से लेकर 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी। IMD के मुताबिक सौराष्ट्र के जिलों जैसे गिर सोमनाथ, अमरेली, भावनगर, जूनागढ़, बोटड और दीव में कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। वहीं गुजरात क्षेत्र के जिलों में अर्थात् वलसाड, नवसारी और दमन, दादरा नगर हवेली में भी भारी बारिश हो सकती है।
विकराल चक्रवाती तूफान में बदला ‘ताउते’
भारत मौसम विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को बताया कि तूफान ‘ताउते’ ‘विकराल चक्रवाती तूफान’ में बदल गया है। आईएमडी ने बताया कि तूफान ने सोमवार को तड़के विकराल रूप धारण कर लिया। विभाग ने पहले इसके विकराल रूप लेने का कोई अनुमान नहीं लगाया था। आईएमडी ने बताया कि पिछले छह घंटों के दौरान लगभग 20 किमी प्रति घंटे की गति से उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ा और अब यह विकराल चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है। इसके कारण अब 180-190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं, जिसके 210 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने का अनुमान है। आईएमडी ने हालांकि कहा कि गुजरात तट पर पहुंचने पर इसकी विकरालता कम होगी।
चक्रवात केरल तट से आगे बढ़ा
आईएमडी के अनुसार तूफान के कारण कर्नाटक में तटीय जिलों में चार लोगों की मौत हो गई और 73 गांव बुरी तरह प्रभावित हुए। भारी बारिश के कारण दक्षिण कन्नड़ जिले में लगभग 120 घर ढह गए। केरल में इस चक्रवात की वजह से दो लोगों की मौत हो गई। कोझिकोड से समुद्र में गए 15 मछुआरे लापता हो गए। आईएमडी के अधिकारियों के अनुसार, चक्रवात केरल तट से आगे बढ़ गया है।
गुजरात, दमन और दीव के लिए अलर्ट जारी
मौसम विभाग के अनुसार यह 18 मई को तड़के पोरबंदर और भावनगर जिले में महुवा के बीच से राज्य के तट को पार करेगा। आईएमडी ने कहा कि उसने गुजरात, दमन और दीव के लिए अलर्ट जारी किया है। यहां हवा 150-160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है। कुछ इलाकों में हवा की गति 175 किलोमीटर प्रति घंटे तक भी पहुंच सकती है।
‘ताउते’ को देखते हुए चौकन्ना हुआ रेलवे प्रशासन
अरब सागर में उठ रहे चक्रवात ‘ताउते’ का असर देश के कई तटीय राज्यों पर पड़ने को आशंका है। राज्य सरकारों ने इससे निपटने के लिए तैयारियां की हैं, लेकिन मौसम विभाग के अनुसार अगले 2-3 दिन तक इसका असर चक्रवाती तूफान और बारिश के तौर पर हो सकता है। इसके चलते रेलवे ने आपातकालीन स्थितियों से निपटने की तैयारी की है।
प्रभावित इलाकों से गुजरने वाली ट्रेनों की गति प्रतिबंधित
एक अधिकारी के अनुसार तूफान या मूसलाधार बारिश की स्थिति में नियमित गति पर ट्रेनें नहीं चल सकती हैं। चलती ट्रेनों के तूफान से टकराने, ट्रैक पर विजिबिलिटी काम होने या पेड़ इत्यादि गिरने से हादसा हो सकता है। सुरक्षा के लिए क्षेत्रीय रेलवे और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की आपदा प्रबंधन नियमावली में निर्धारित दिशानिर्देशों का पालन करने और भारतीय मौसम विभाग (IMD) के साथ-साथ राज्य सरकार के साथ समन्वय बनाए रखने पर जोर दिया जा रहा है।
अधिकारियों को वॉट्सऐप अलर्ट
प्रभावित क्षेत्र में विभागीय अधिकारियों द्वारा वॉट्सऐप के माध्यम से भारतीय मौसम विभाग और राज्य सरकार के साथ नियमित अपडेट के लिए निकट संपर्क बनाए रखा जा रहा है। मुख्यालय के आपदा नियंत्रण कक्ष और मंडल के आपदा नियंत्रण कक्षों के बीच हॉटलाइन सुनिश्चित की गई है। संबंधित मंडलों के इंजिनियरिंग विभाग को पेड़ काटने के उपकरण, डीजी सेट, डीजल चालित पंप, अर्थ मूविंग उपकरण, जेसीबी, यूटिलिटी वाहन, पर्याप्त ईंधन संसाधन आदि की व्यवस्था के साथ स्थिति से निपटने तथा जरूरत के समय किसी भी सहायता के लिए तैयार के लिए अलर्ट पर रखा गया है।
ट्रेनों की आवाजाही प्रभावित
ट्रेनों की आवाजाही के बारे में बताते हुए मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने कहा कि यात्रियों की संरक्षा और ट्रेन संचालन में सुरक्षा के मद्देनजर एहतियात के तौर पर कई ट्रेनों को रद्द और शॉर्ट टर्मिनेट किया गया है। जनता की जानकारी के लिए स्टेशनों पर ट्रेन अपडेट के बारे में लगातार घोषणाएं की जाएंगी। साथ ही, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों और मीडिया अपडेट के माध्यम से समय-समय पर ट्रेनों के नियमन/ निरस्तीकरण/अल्प-टर्मिनेशन/डायवर्सन आदि के संबंध में विस्तृत अपडेट जारी किए जाएंगे।
मंगलवार तक रहना होगा सावधान
भारतीय मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि 16 से 18 मई की अवधि में चक्रवाती तूफान तौकते के गुजरात के तट पर टकराने की आशंका है। इस स्थिति में कई स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा और अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। इसके अलावा, 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा जो 60 किमी प्रति घंटे तक पहुंचकर धीरे-धीरे बढ़कर आंधी व तेज हवाएं बन जाती हैं, जिनकी गति 18 मई के शुरुआती घंटों से 90 – 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से 115 किमी प्रति घंटे तक रहेगी और इसके बाद 18 तारीख की सुबह से इसके और धीरे-धीरे बढ़ने का पूर्वानुमान लगाया गया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *