कोरोना का कहर: पाकिस्‍तान के सिंध और बलूचिस्‍तान में सेना बुलाई

इस्‍लामाबाद। कोरोना वायरस के कहर से जूझ रहे पाकिस्‍तान में इस महामारी से संक्रमित लोगों की संख्‍या 645 पहुंच गई है। पाकिस्‍तान का आबादी के लिहाज से दूसरा सबसे बड़ा सूबा सिंध कोरोना वायरस का गढ़ बनता जा रहा है। सिंध में सबसे ज्‍यादा 292 मामले सामने आए हैं। हालात इतने खराब हैं कि सिंध में व्‍यवस्‍था को संभालने के लिए सेना को बुलाना पड़ा है।
सिंध में खराब हालात को देखते हुए माना जा रहा है कि जल्‍द ही पूरा लॉकडाउन किया जा सकता है।
सिंध प्रांत की राजधानी कराची में कोरोना के संक्रमण के 105 से ज्‍यादा मामले सामने आए हैं। विशेषज्ञों का अनुमान है कि यह तो बस शुरुआत है, अगर पाकिस्‍तान में इसी तरह से कोरोना का प्रसार होता रहा तो इस साल जून महीने तक दो करोड़ लोग पाकिस्‍तान में कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं।
पंजाब में जीवनरक्षक उपकरणों की भारी कमी
संकट को देखते हुए बलूचिस्‍तान की सरकार ने भी सेना तैनात करने की मांग की है। सरकार को डर सता रहा है कि अगर ऐसे ही कोरोना का प्रसार होता रहा तो प्रांत में कानून और व्‍यवस्‍था की समस्‍या उत्‍पन्‍न हो सकती है। बलूचिस्‍तान में कोरोना से 104 लोग संक्रमित हैं। इस बीच पूरे पाकिस्‍तान में टेस्टिंग किट का अकाल पड़ा हुआ है। कोरोना से दूसरे सबसे ज्‍यादा प्रभावित पंजाब में जीवनरक्षक उपकरणों की भारी कमी है। पंजाब पाकिस्‍तान का सबसे अधिक जनसंख्‍या वाला राज्‍य है। पंजाब में कोरोना से 152 लोग संक्रमित हैं।
पा‍किस्‍तान के पंजाब प्रांत को वेंटिलेटर के निर्यात पर चीन को छोड़कर पूरी दुनिया में लगे बैन की वजह से परेशानी झेलनी पड़ रही है। इस बीच चीन ने ऐलान किया है कि वह पाकिस्‍तान को वेंटिलेटर और मास्‍क देगा। देश को इस महासंकट से बचाने के लिए इमरान सरकार ने कई रेलगाड़ियों के संचालन पर रोक लगाने का फैसला किया है। साथ ही विदेश से आ रहे संक्रमण को रोकने के लिए पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स ने अपनी सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा दी है। पीआईए के प्रवक्ता ने फैसले की पुष्टि करते हुए कहा कि सरकार के निर्देश पर सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को फिलहाल सस्पेंड कर दिया गया है। प्रवक्ता ने बताया, यह फैसला 21 मार्च रात 8 बजे से प्रभावित होगा और 28 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें फिर शुरू की जाएंगी।
करीब 50 ट्रेनों का चक्का भी रोका जाएगा
रेल मंत्री शेख राशिद अहमद ने कहा कि देश में 34 ट्रेनों के संचालन को रमजान के 15वें दिन तक रोका जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि कोरोना वायरस के कारण लोग ट्रेनों में कम सफर कर रहे हैं। उन्होंने इस्लामाबाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि 12 ट्रेनें कल से संचालित नहीं की जाएगी, जिनमें- खुशाल,शाह लतीफ और रावी ट्रेन हैं जबकि बाकी 34 ट्रेनों को 24 मार्च की आधी रात से बंद कर दिया जाएगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *