KD हाॅस्पिटल में कोरोना संक्रमित महिला ने दिया शिशु को जन्म

मथुरा। KD मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के चिकित्सकों ने आज कोरोना संक्रमित एक महिला की सुरक्षित डिलीवरी कराने में सफलता हासिल की है। महिला ने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है। महिला व नवजात बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ है। मथुरा जनपद में यह पहला मामला है, जब कोरोना संक्रमित महिला ने शिशु को जन्म दिया है। RK एजुकेशन हब के चेयरमैन डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, चेयरमैन मनोज अग्रवाल, डीन डॉ. रामकुमार अशोका तथा मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ. राजेन्द्र कुमार ने संस्थान के चिकित्सकों, नर्सेज तथा पैरामेडिकल स्टाफ को धन्यवाद देते हुए मां और बच्चे की सतत निगरानी रखने के निर्देश दिए हैं।

KD मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर में पिछले एक सप्ताह से औरंगाबाद निवासी एक कोरोना संक्रमित गर्भवती महिला भर्ती थी। शनिवार सुबह उसे लेबर पेन शुरू होने पर चिकित्सकों ने जांच की। जांच में पाया गया कि डिलीवरी सिजेरियन करवानी पड़ सकती है जिस पर महिला रोग विशेषज्ञों, शिशु रोग विशेषज्ञों तथा निश्चेतना विभाग के चिकित्सकों ने तुरंत डिलीवरी की प्रक्रिया शुरू की तथा महिला रोग विशेषज्ञों ने विशेष प्रयास करके महिला की नार्मल सुरक्षित डिलीवरी कराने में सफलता हासिल की।

डीन डाॅ. रामकुमार अशोका ने बताया कि KD हॉस्पिटल में एक कोरोना संक्रमित महिला ने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है। नवजात शिशु को अभी करीब दो सप्ताह तक फार्मूला फीडिंग पर रखा जाएगा ताकि शिशु को माता से किसी भी तरह के संक्रमण का खतरा न रहे। महिला की सुरक्षित डिलीवरी कराने में चीफ मेडिकल ऑफीसर कोविड-19 डॉ. पुलकेश, डॉ. अंकिता राजगढ़िया, डॉ. नितिन जी. पुरिया, नर्सेज यामिनी, पूनम एवं जतिन आदि की भूमिका सराहनीय रही।

RK एजुकेशन हब के चेयरमैन डॉ. रामकिशोर अग्रवाल ने कहा कि संस्थान को अपने चिकित्सकों व अन्य सभी चिकित्सा कर्मचारियों पर गर्व है जो कि संकट के इस समय दिन-रात मरीजों की सेवा में लगे हुए हैं। चेयरमैन मनोज अग्रवाल का कहना है कि KD मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के खिलाफ हर पीड़ित की चिकित्सा सेवा को पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। यह संतोष की बात है कि KD हॉस्पिटल में उपचार को आ रहे कोरोना संक्रमित लोग एक-एक कर स्वस्थ होकर अपने घर जा रहे हैं। श्री अग्रवाल ने सभी डॉक्टर्स, नर्सेज तथा पैरामेडिकल स्टाफ से स्वयं की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए मरीजों की देखभाल करने का आह्वान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *