कोरोना ने फिर दी टेंशन, सीएम केजरीवाल ले रहे हैं इमरजेंसी मीटिंग

नई दिल्ली। देश में कोरोना में मामलों में एक बार फिर से बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। होली पर कोरोना ने राज्यों को टेंशन दे दी है। दिल्ली में मास्क नहीं पहनने वालों पर सख्ती बरती जा रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी इस मामले पर आज इमरजेंसी मीटिंग कर रहे हैं। होली के मौके पर शहरों में रहने वाले लोग अपने होमटाउन लौट रहे हैं। ऐसे में होली में कोरोना के संक्रमण बढ़ने का खतरा बढ़ गया है। हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि होली पर यदि सावधानी नहीं बरती गई तो यह सुपर स्प्रेडर साबित हो सकता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार लोगों को होली के मौके पर सामाजिक समारोहों या सामुदायिक बैठकों में हिस्सा लेना ठीक नहीं है। यह चेतावनी ऐसे समय आई है जब देश के 70 जिलों में कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। महाराष्ट्र, बिहार समेत कुछ राज्यों ने होली के मद्देनजर खास कदम उठाए हैं।
दिल्ली: सूखी होली मनाने की अपील
दिल्ली सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लोगों से पहले ही सूखी होली मनाने की अपील कर चुकी है। सीएम अरविंद केजरीवाल राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर आपात बैठक कर रहे हैं। राज्य सरकार कोरोना दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ चालान काटने समेत अन्य कार्यवाही कर रही है। दिल्ली में कोरोना वायरस के केस तेजी से बढ़ने लगे हैं। बुधवार को करीब दो महीने बाद राजधानी में 500 से ज्यादा नए केस रिपोर्ट हुए हैं।
यूपी: फोकस सैंपलिंग अभियान शुरू
यूपी सरकार ने एक बार फिर से पूरे प्रदेश में अलग से फोकस सैम्पलिंग अभियान शुरू किया है। यह अभियान 27 मार्च तक चलेगा। नोएडा में पुलिस ने 30 अप्रैल तक धारा 144 लागू की गई है। इसके अलावा कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने, पब्लिक फेस मास्क नहीं पहनने वाले लोगों के खिलाफ कार्यवाही की चेतावनी दी गई है।
बिहार: सार्वजनिक होली समारोह पर लगी रोक
होली के दौरान बिहार आने वाले यात्रियों पर सरकार की खास नजर होगी। सभी यात्रियों की रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड और एयरपोर्ट पर ही रैंडम कोरोना जांच की जाएगी। राज्य में सार्वजनिक होली मिलन समारोह पर रोक लगा दी गई है। राजधानी पटना में 6 क्वारंटीन सेंटर दोबारा शुरू कर दिए गए हैं। इसमें दो शहर और चार ग्रामीण इलाकों में हैं।
राज्य करें सख्ती लेकिन लोगों के बीच ना हो भय का माहौल
पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि इस बार टियर 2 और टियर 3 शहर जो शुरू में प्रभावित नहीं हुए थे, उसके आसपास के शहर प्रभावित हो रहे हैं। कोरोना के बढ़ते केस के बीच पीएम मोदी ने कहा कि जहां जरूरी हो वहां माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्री से कहा है कि अगर कोरोना की दूसरी लहर पर तुरंत काबू नहीं पाया गया तो कोविड-19 महामारी फिर से पूरे देश में फैल जाएगी। उन्होंने राज्यों पर इस दिशा में सख्ती बरतने की अपील करते हुए कुछ ऐसे कदम नहीं उठाने की नसीहत दी जिनसे आम लोगों के बीच भय का माहौल बन जाए।
इस लहर को नहीं रोका तो देशव्यापी होगा असर
प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें छोटे सिस्टम में हेल्थ नेटवर्क और टेस्टिंग पर काम करना होगा।महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट बहुत ज्यादा है। कोरोना की इस लहर को नहीं रोका गया तो इसका देश व्यापी असर देखने को मिल सकता है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने बुधवार को ही प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया है कि 16 राज्यों के 70 जिलों में कोरोना मामलों में तेजी देखी गई है। इन राज्यों में पिछले 15 दिनों में कोरोना के मामलों में 150 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। पिछले 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 400 से ज्यादा नए मामले रिपोर्ट हुए हैं।
रोजाना कम से कम 50 लाख वैक्सीन डोज देने की जरूरत
AIIMS दिल्ली के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि मौजूदा स्थिति यही इशारा कर रही है कि हम दूसरी लहर की तरफ बढ़ रहे हैं। गुलेरिया ने वैक्सीनेशन की मौजूदा स्पीड को बढ़ाने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हमें एक दिन में कम से कम 50 लाख डोज देने की जरूरत है। उन्होंने वैक्सीनेशन को लेकर जागरूकता अभियान चलाने की वकालत की। इसके लिए विशेषरूप से ग्रामीण इलाकों में फोकस करने पर जोर दिया।
नए स्ट्रेन के 200 के करीब केस
देश में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 35,871 नए मामले दर्ज किए गए जो 100 से अधिक दिनों में एक दिन में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं। सेंट्रल एजेंसी फॉर डिजीज सर्विलांस महाराष्ट्र, केरल और तेलंगाना सहित 18 राज्य की मॉनिटरिंग कर रही है। इन क्षेत्रों में ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील में पाए गए कोरोना के नए स्ट्रेन के 200 के करीब मामले सामने आ गए हैं। दिल्ली में महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और पंजाब से आने वाले लोगों के लिए नेगेटिव कोरोना रिपोर्ट जरूरी कर दिया गया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *