कोरोना इफेक्‍ट: तोड़े जाने लगे फिल्‍मों के सेट, प्रोड्यूसर्स असोसिएशन ने सरकार से गुहार लगाई

मुंबई। कोरोना संकट में किए गए लॉकडाउन की वजह से फिल्‍म मेकर्स को करोड़ों का नुकसान हो रहा है क्योंकि काम ठप होने के बावजूद उन्हें सेट का किराया भरना पड़ रहा है।
प्रोड्यूसर्स असोसिएशन ने सरकार से इनका किराया माफ करने की अपील की है।
अपनी फिल्मों की भव्यता के लिए मशहूर फिल्ममेकर संजय लीला भंसाली के फिल्मसिटी में सजे ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ के कोठे को जहां अभी गुलजार होना था, वह वीरान पड़ा है।
इसी प्रकार 9 एकड़ में पसरे जिस ‘मैदान’ पर अजय देवगन देश को गोल्ड दिलाने वाले थे, वह धूल फांक रहा है।
दरअसल, कोरोना के चलते पिछले दो महीने से शूटिंग बंद होने के कारण मैदान, थलाइवी, गंगूबाई काठिवाड़ी समेत बहुत सी फिल्मों के सेट पर सन्नाटा है। इससे मेकर्स को करोड़ों का नुकसान हो रहा है क्योंकि काम ठप होने के बावजूद उन्हें सेट का किराया भरना पड़ रहा है। कई मेकर्स अपने फिल्म सेट को गिरा तक रहे हैं। प्रोड्यूसर्स असोसिएशन ने सरकार से इनका किराया माफ करने की अपील की है।
भंसाली ने आलिया भट्ट स्टारर फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी का शानदार सेट फिल्मसिटी में बनवाया है। यहां कई एकड़ में 1960 का कमाठीपुरा बसाया गया है, जिसके लिए उन्हें बिना शूटिंग के मोटा किराया देना पड़ रहा है।
खबरों के मुताबिक इसके चलते वह करीब 15 करोड़ का नुकसान उठाकर सेट को गिराने का मन बना रहे हैं। इसी तरह, अजय देवगन की फुटबॉल कोच सैय्यद अब्दुल रहीम की बॉयापिक फिल्म मैदान के लिए 9 एकड़ में विशाल स्टेडियम बनाया गया है, जो दो महीने से खाली पड़ा है। इससे मेकर्स को करीब 7 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा है। यही हाल कंगना रनौत की जयललीता की बॉयापिक फिल्म थलाइवी का भी है। इसके लिए हैदराबाद में पार्लियामेंट हाउस और चेन्नै में माउंट रोड क्रिएट किया गया है, जहां करीब 45 दिन शूटिंग होनी थी, लेकिन एक भी दिन शूट नहीं हो पाया। इससे करीब 5 करोड़ का नुकसान हो चुका है।
मॉनसून भी बढ़ाएगा मुसीबत
मेकर्स के सामने एक और बड़ी समस्या मॉनसून भी है, क्योंकि अगर शूटिंग जुलाई, अगस्त तक शुरू होती है, तब बारिश की वजह से सेट्स के खराब होने का डर है। आईएफटीपीसी के टीवी प्रभाग के चेयरमैन जेडी मजीठिया कहते हैं, ‘हम मेकर्स लिए मॉनसून भी बड़ी चुनौती होगी, क्योंकि जब तक शूट शुरू होगा, मॉनसून आ जाएगा और बारिश के लिए अलग व्यवस्था करनी पड़ती है। इसलिए, हम सरकार से आग्रह करना चाहते हैं कि शूटिंग चाहे जब शुरू हो, पर हमारे सेट को बारिश से बचाने के लिए जो उपाय करने होते हैं, प्लास्टिक या तालपत्री लगाना, वह पहले करने की अनुमति मिल जाए, वरना हमारे करोड़ों के सेट पर पानी पड़ जाएगा।’
सरकार से किराया छोड़ने की मांग
इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर्स असोसिएशन के प्रेसीडेंट टीपी अग्रवाल ने बताया, ‘हमारे ज्यादातर सेट्स फिल्मसिटी में हैं, जिसके लिए प्रोड्यूसर्स को बिना कोई काम हुए किराया भरना पड़ रहा है इसलिए हमने फिल्मसिटी को लेटर भेजा है कि इसका किराया ना लिया जाए। महाराष्ट्र सरकार ने मकान मालिकों से तीन महीने किराया टालने को कहा है, उन्हें सेट के लिए भी ऐसा करना चाहिए, क्योंकि सेट बिल्कुल खाली पड़े हैं। फिर, प्रोड्यूसर्स को सेट में लगे सामान का किराया भी देना पड़ रहा है इसलिए उनसे लोकेशन का चार्ज नहीं लेना चाहिए।’ इस बारे में फिल्म सिटी के जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्टर सुभाष शांताराम बोरकर ने बताया कि प्रड्यूसर्स की तरफ से सेट का किराया न लेने को लेकर लेटर मिला है, जिसे बोर्ड मेंबर्स के सामने रखा जाएगा। फिर, उस पर चर्चा करके कोई फैसला लिया जाएगा।
एनडी स्टूडियोज ने माफ किया किराया
भले ही सरकार ने प्रोड्यूसर्स को सेट के किराए में छूट नहीं दी है, पर एनडी स्टूडियोज के मालिक नितिन देसाई ने इस मुश्किल वक्त में दरियादिली दिखाते हुए उनके स्टूडियो में लगे सेट्स का किराया माफ कर दिया है। कर्जत स्थित एनडी स्टूडियोज में इन दिनों अर्जुन रामपाल की फिल्म द बैटल ऑफ भीमा कोरेगांव सहित कई शोज के भव्य सेट बने हुए हैं।
टूट गया फरहान की वेब सीरीज डोंगरी टू दुबई का सेट?
मिर्जापुर के बाद फिल्ममेकर फरहान अख्तर और रितेश सिधवानी एक और बिग बजट क्राइम ड्रामा वेब सीरीज डोंगरी टू दुबई लेकर आने वाले थे। पत्रकार हुसैन जैदी की किताब डोंगरी टू दुबई: सिक्स डेकेड ऑफ द मुंबई माफिया किताब पर आधारित यह सीरीज डॉन दाउद इब्राहिम की जर्नी को दिखाएगी। इसके लिए मुंबई के मड इलाके में करीब 5-6 करोड़ की लागत से भव्य सेट बनाया गया था, लेकिन अब खबर है कि लॉकडाउन की वजह से हाल ही में इस सेट को गिरा दिया गया है। हालांकि, खबर लिखे जाने तक इस पर ऑफिशल कन्फर्मेशन नहीं मिल पायी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *