कोरोना: सऊदी के ही सिर्फ 60 हजार लोगों को हज की इजाजत

रियाद। जुलाई से शुरू हो रही हज यात्रा पर कोरोना वायरस की महामारी का असर पहले ही हो गया है। सऊदी अरब ने शनिवार को ऐलान किया है कि इस साल हज में सिर्फ देश के नागरिकों को ही आने का मौका मिलेगा। देश के 60 हजार लोगों को हज में जाने की इजाजत होगी जिन्हें वैक्सीन लग चुकी है।
सऊदी प्रेस एजेंसी के मुताबिक हज मंत्रालय का कहना है कि इस साल सीमित संख्या में सिर्फ देश के लोगों के लिए ही हज की इजाजत होगी। 18-65 साल की उम्र के लोग जो हज करना चाहते हैं उन्हें वैक्सीन लगवानी होगी। उन्हें लंबे समय तक रहने वाली कोई बीमारी भी नहीं होनी चाहिए।
बयान में कहा गया है, ‘सऊदी अरब इस बात की पुष्टि करता है कि उसने हाजियों के स्वास्थ्य व सुरक्षा और उनके देशों की सुरक्षा के बारे में निरंतर विचार-विमर्श के बाद यह फैसला लिया है।’ पिछले साल, सऊदी अरब में पहले से रह रहे लगभग एक हजार लोगों को ही हज के लिये चुना गया था। सामान्य हालात में हर साल लगभग 20 लाख मुसलमान हज करते हैं।
ऐप पर रजिस्ट्रेशन
इससे पहले अप्रैल में बताया गया था कि वैक्सिनेशन का स्टेटस सऊदी अरब की कोविड-19 ऐप Tawakkalna पर रजिस्टर करना होगा। इसे पिछले साल इन्फेक्शन को ट्रैक करने के लिए लॉन्च किया गया था। जिन लोगों को ग्रैंड मॉस्क या मदीना में पैगंबर की मस्जिद में जाना होगा, या उमराह करना होगा, उन्हें Tawakkalna और उमराह की ऐप Eatmarna पर रजिस्टर करना होगा। जगह के हिसाब से इजाजत दी जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *