मध्य प्रदेेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग की छापेमारी जारी

भोपाल। आयकर विभाग की मध्य प्रेदश में छापेमारी सोमवार को भी जारी है। मुख्यमंत्री कमलनाथ के नजदीकों के घरों और दफ्तरों को खंगाला जा रहा है। CM के OSD के नजदीकी अश्विन शर्मा के घर सोमवार तड़के तलाश जारी रही।
मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के करीबियों के घर पर आयकर विभाग के छापे के बाद राज्य में सियासी भूचाल आ गया है। आयकर विभाग ने रविवार को मध्य प्रदेश, नई दिल्ली और गोवा में करीब 50 जगहों पर छापेमारी की और आज तड़के तक छापेमारी जारी थी। टीम ने मध्य प्रदेश में करीब 35 जगहों पर रेड की। इस रेड में सीएम कमलनाथ के कई करीबियों के घर और दफ्तर भी शामिल रहे। सीएम कमलनाथ ने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा है कि आम चुनाव के दौरान इस तरह की कार्यवाही को तैयार हैं तो एमपी बीजेपी ने कमलनाथ को अपने सहयोगियों को संरक्षण देने का गंभीर आरोप लगाया है। वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा है कि उनके घर पर भी आईटी विभाग की टीम छापा मार सकती है लेकिन उनके पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है और वह टीम का स्वागत करेंगे।
अश्विन शर्मा के घर जारी छापा
राजधानी भोपाल में विभाग की टीम सोमवार तड़के सीएम के पूर्व OSD प्रवीण कक्कड़ के एसोसिएट अश्विन शर्मा के घर पर छापेमारी कर रही थी। इससे पहले रविवार को भोपाल में अंसल अपार्टमेंट के उनके दो मकानों और प्‍लेटिनम प्‍लाजा में एक फ्लैट को भी खंगाला गया था। इनमें से एक जगह पर कथित तौर पर आईएएस और आईपीएस अफसरों के द्वारा किए गए निवेश से जुड़े कागजात भी मिले हैं।
मध्य प्रदेश में सियासी तूफान
आयकर विभाग की कार्रवाई से मध्य प्रदेश का राजनीति में उथल-पुथल मच गई है। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस आमने-सामने हैं। बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि ऐसा लगता है कि केवल चोरों को ही चौकीदार से शिकायत है। मक्कल निधि मैय्यम चीफ कमल हासन ने कहा है कि जो लोग पैसे की जमाखोरी करते हैं, उन पर छापेमारी करनी चाहिए, उन्हें सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि छापे सिर्फ चुनाव के वक्त में नहीं, पहले भी हुए हैं।
बीजेपी पर हमलावर कांग्रेस
वहीं, कांग्रेस नेता शोभा ओझा ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि यह कार्यवाही राजनीतिक बदला लेने के लिए की गई है। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस की छवि खराब करने की यह बीजेपी की बेकार कोशिश है। यह सफल नहीं होगी। यह संकेत है कि पीएम नरेंद्र मोदी तीन विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत से परेशान हो गए हैं।’ वहीं सीएम कमलनाथ ने सीधे तौर पर तो कोई बयान नहीं दिया है लेकिन यह जरूर कहा है कि पूरे देश को पता है कि कैसे और किसके लिए संवैधानिक संस्थाओं को गलत इस्तेमाल पिछले पांच साल से किया जा रहा है।
‘हमारे कार्यकर्ताओं को डकाने की कोशिश’
लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि जो भी मध्य प्रदेश में हो रहा है, वह बदले की भावना से किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगया, ‘चुनाव के वक्त इस तरह से धमकाकर केंद्र हमारे कार्यकर्ताओं में डर पैदा करना चाहता है। मोदी जी ऐसा कर रहे हैं, इसलिए मैंने कहा कि ED और IT विभागों का गलत इस्तेमाल हो रहा है। सीएम , उनके निजी सचिव, सचिवों के घर पर छापा मारना, कांग्रेस इससे डरेगी नहीं। कांग्रेस चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार है लेकिन वे (बीजेपी) ताकत का गलत इस्तेमाल करके जीतना चाहते हैं। लोग उन्हें सबक सिखाएंगे।
चिदंबरम ने किया ट्वीट-‘IT विभाग की टीम का स्वागत करेंगे’
पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदांबरम ने भी ट्वीट कर कहा, ‘मुझे बताया गया है कि आयकर विभाग चेन्नै और शिवगंगा स्थित मेरे घरों पर भी छापा मारेगा। हम सर्च पार्टी का स्वागत करेंगे।’
उन्होंने आगे कहा, ‘आयकर विभाग जानता है कि हमारे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है। वे और दूसरी एजेंसियां हमारे घर पहले भी तलाश चुकी हैं और कुछ नहीं मिला। इसके पीछे मकसद चुनाव प्रचार अभियान को तोड़ना है। लोग इस सरकार की अति देख रहे हैं और चुनावों में सटीक जवाब देंगे।’
CM के करीबियों के दफ्तर खंगाले
ककक्ड़ के भोपाल और इंदौर स्थित घर और दफ्तर में रविवार को विभाग की टीम सीआरपीएफ की टुकड़ी के साथ रेड डालने पहुंची थी। कक्कड़ का परिवार हॉस्पिटैलिटी समेत विभिन्न क्षेत्रों के कारोबार से जुड़ा है। कमलनाथ के एक और नजदीकी आरके मिगलानी के नई दिल्ली के ग्रीन पार्क स्थित घर पर भी आयकर विभाग ने छापा मारा था। भोपाल में प्रतीक जोशी के घर से बड़ी मात्रा में कैश भी बरामद किया गया है।
पुलिस और CRPF में कहासुनी
भोपाल के प्लेटिनम प्लाजा स्थित एक घर के भीतर इनकम टैक्स की छापेमारी चल रही थी और बाहर एमपी पुलिस और सीआरपीएफ के बीच गंभीर टकराव की नौबत आ गई। सीआरपीएफ ने जहां एमपी पुलिस पर गाली देने और काम में बाधा डालने का आरोप लगाया है, वहीं एमपी पुलिस ने केंद्रीय बल पर आम लोगों को परेशान करने का आरोप लगाया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *