कोरोना वैक्‍सीन के ह्यूमन ट्रायल में शामिल होने के लिए वॉलंटियर्स के बीच होड़ लगी

नई दिल्‍ली। एम्स में होने वाले कोविड-19 के एंटी वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल में शामिल होने के लिए वॉलंटियर्स के बीच होड़ लग गई है।
शनिवार शाम को एम्स की एथिक्स कमेटी से ट्रायल को मिली मंजूरी के बाद अस्पताल ने वॉलंटियर्स बनने की एक छोटी सी अपील की थी। इसके बाद अगले कुछ घंटों के अंदर एक हजार से भी ज्यादा लोग एम्स से संपर्क कर चुके हैं जबकि एम्स में फेज वन के इस ट्रायल में सिर्फ 100 लोगों को ही शामिल किया जा सकता है। उम्मीद है कि अगले दो से तीन दिन में ट्रायल शुरू हो जाएगा।
वॉलंटियर्स बनने के लिए जारी किया गया नंबर
एम्स में कोविड वैक्सीन प्रोजेक्ट के प्रिंसिपल इनवेस्टिगेटर व कम्युनिटी मेडिसिन के प्रोफेसर डॉ. संजय राय ने कहा कि ट्रायल के लिए वॉलंटियर्स बनने के लिए जो फोन नंबर जारी किया गया था, उस पर लगातार कॉल आ रही हैं। जिस प्रकार लोगों का इस ट्रायल से जुड़ने का उत्साह देखा जा रहा है, वह हमारे लिए भी किसी जोश से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने ईमेल व वॉट्सऐप के जरिए भी संपर्क किया है। हमारी कोशिश है कि हम हर किसी को जवाब दें और हमने यह काम शुरू कर दिया है।
ह्यूमन ट्रायल को लेकर आज बैठक
डॉक्टर संजय ने कहा कि ‘कमेटी से मंजूरी मिलने के बाद अब आज (सोमवार) से हमारा काम शुरू होगा। सोमवार को इस ट्रायल के लिए बनी टीम की बैठक की जाएगी, जिसमें हम आगे की रणनीति पर काम करेंगे। उन्होंने कहा कि हम पहले वॉलंटियर्स की लिस्ट तैयार करेंगे, उसके बाद एक एक करके सभी को सैंपल देने के लिए बुलाया जाएगा।’ ट्रायल में शामिल होने वाले सभी की कोरोना जांच होगी, निगेटिव पाए जाने पर ही उन्हें ट्रायल में शामिल किया जाएगा। मतलब जिन्हें पहले से कोविड हुआ है या जो संक्रमित हैं उन्हें इसमें शामिल नहीं किया जाएगा। इसके अलावा कई और प्रकार की जांच होगी, जिसके लिए उनके ब्लड सैंपल लिए जाएंगे। सभी रिपोर्ट सही पाए जाने के बाद भी ट्रायल में शामिल किया जाएगा। डॉक्टर संजय ने कहा कि हमारी कोशिश है कि अगले दो से तीन दिन में इस ट्रायल को शुरू कर दिया जाए।
रिजल्ट आने में लगेगा समय
डॉक्टर संजय ने बताया कि इस ट्रायल के रिजल्ट आने में समय लग सकता है क्योंकि आईसीएमआर और बायोटेक द्वारा तैयार की गई कोविड-19 की यह वैक्सीन (Covaxin) की दो डोज शेड्यूल है। यानी हर किसी को दो बार वैक्सिनेशन किया जाएगा। इसके लिए 14 दिन का गैप है। इसके बाद ही यह पता लगेगा कि वैक्सीन का ह्यूमन पर किस प्रकार रिजल्ट आता है। उन्होंने कहा कि एम्स के लिए अच्छी बात यह है कि पहले फेज के ट्रायल के कुल 375 सब्जेक्ट में से 100 हमारे पास हैं। यह अच्छी बात है, इससे लोगों का विश्वास बढ़ेगा।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *