कमेटी ने सोनिया गांधी को सौंपी पांच राज्‍यों में पार्टी की हार पर रिपोर्ट

नई दिल्‍ली। पांच राज्यों के चुनावों में मिली हार का विश्लेषण करने के लिए गठित कांग्रेस कमेटी ने अपनी रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को सौंप दी है। समिति के अध्यक्ष अशोक चव्हाण थे और इसमें सलमान खुर्शीद, मनीष तिवारी, विन्सेंट पाला और जोथी मणि जैसे सदस्य शामिल हैं।
सूत्रों का कहना है कि समिति ने अपनी रिपोर्ट में कांग्रेस की हार का मुख्य कारण उम्मीदवार चयन में अंदरूनी कलह, गठबंधन और खामियों को बताया है।
समिति ने कहा कि असम सहित कोई भी राज्य अंदरूनी लड़ाई से अछूता नहीं है जबकि केरल अंदरूनी लड़ाई की सूची में शीर्ष पर है जहां ओमान चांडी और रमेश चेन्नीथला के नेतृत्व में दो गुट आमने-सामने थे।
असम में कई लोगों ने एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन के लिए रिवर्स ध्रुवीकरण का मुख्य कारण बताया, जबकि कुछ ने कहा कि एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन फायदेमंद था, लेकिन पार्टी के कुछ नेताओं ने राज्य के प्रभारी जितेंद्र सिंह को राज्य के नेताओं को विश्वास में नहीं लेने के लिए दोषी ठहराया है। चुनाव प्रचार और गठबंधन पर फैसला करते हुए कहा कि ऊपरी असम के मुद्दों की उपेक्षा की गई।
कांग्रेस पैनल को केरल में कई नए चेहरों के बारे में बताया गया, जिसके कारण राज्य में पार्टी का खराब प्रदर्शन हुआ जबकि पश्चिम बंगाल में गठबंधन में बहुत देर हो गई और भाजपा और टीएमसी के बीच ध्रुवीकरण के कारण राज्य में पार्टी की हार हुई। जिस तरह से प्रदेश अध्यक्ष ने बिना परामर्श के काम किया, उससे कांग्रेस नेता नाराज थे।
सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस का मीडिया प्रबंधन ठीक नहीं था।
कांग्रेस पैनल ने पांच राज्यों में आगामी राज्य चुनावों के लिए कुछ सिफारिशें भी की हैं।
अंतरिम कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 11 मई को हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनावों में पार्टी की हार के कारणों का विश्लेषण करने के लिए एक समिति का गठन किया था।
सोनिया गांधी ने सीडब्ल्यूसी की बैठक में कहा था, “हमें स्पष्ट रूप से यह समझने की जरूरत है कि हम केरल और असम में मौजूदा सरकारों को हटाने में विफल क्यों रहे और हमने पश्चिम बंगाल में पूरी तरह से खाली कर दिया।”
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *