सीएम योगी अयोध्या में मनाएंगे दीपावली, साथ में पूरी कैबिनेट के मौजूद रहने की पूरी सम्भावना

दीपावली के बहाने कही सियासी दियो कि जगमगाहट कि तैयारी तो नहीं

पूरी अयोध्या नगरी व सरयू तट दीपों से होंगे रोशन

अयोध्‍या। उत्तर प्रदेश के मुखिया महंत योगी आदित्य नाथ ने इस बार मुख्यमंत्री बनने के बाद अपनी पहली दीपावली श्री राम की जन्म स्थली अयोध्या में मानाने का निर्णय किया है, साथ ही उनके मंत्रिमंडल के भी उपस्थित होने कि पूरी सम्भावना बताई जा रही हैं।

इस बार दीपावली 19 अक्टूबर को पड़ रही है, दीपावली से एक दिन पूर्व यानि कि 18 अक्टूबर छोटी दीपावली एवं हनुमान जयंती के मौके पर सीएम योगी का राम नगरी अयोध्या में दीवाली मनाने का कार्यक्रम है।

इस मौके पर पूरी अयोध्या व सरयू घाटों को दियो से ठीक उसी तरह जगमगाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है किस प्रकार से तुलसी दास द्वारा रचित रामचरित मानस में उल्लिखित भगवान श्री राम ने रावण का वध कर लंका पर विजय प्राप्त कर 14 वर्ष का वनवास पूरा कर अयोध्या नगरी वापस आये थे जिसके बाद अयोध्यावासियों ने अपने प्रभु के आगमन पर पूरी अयोध्या को दीपों से जगमगा कर धूम धाम से दीपावली मनाई थी।
किन्तु इस बार तो नजारा ही दूसरा है जिसे राम जन्म भूमि के मुख्य पुजारी महंत सतेंद्र दास कुछ इस प्रकार बता रहे हैं।

महंत सतेंद्र दास का कहना है कि जिनके रावण वध व लंका विजय के बाद दीपावली के पर्व की शुरुआत हुयी और पूरी अयोध्या नगरी को दियों से जगमगा दिया गया था। आज वही प्रभु श्री राम तो टेंट में हैं और हम सभी ठाट में हैं। ये तो बड़े ही दुःख की बात है, दीपावली तो उस दिन मनाई जायगी जिसदिन श्री राम टेंट से निकल कर भव्य मंदिर में विराजमान होंगे, ये तो अपना राजनैतिक स्वार्थ सिद्ध करने कि दीवाली मनाई जा रही है इसका कोई मतलब नहीं है।

वहीं हिन्दू शिव सेना नेता व राम मंदिर आंदोलन का हिस्सा रहे संतोष दुबे ने साफ तौर से कहा कि योगी व मोदी के इस प्रकार का दीपावली का कार्यक्रम करना अयोध्यवासियों व राम भक्तों को भ्रमित करना है।

उन्‍होंने पूरी अयोध्या को दीपों से जगमगा कर उजाला किया जाये व राम जन्म भूमि में अधियारा ही रहे। ये कैसा खेल है हम लोग भ्रमित होने वाले नहीं है। हम सभी को राम मंदिर चाहिए जिसके बाद पूरा विश्व दीवाली मनाएगा।

जबकि राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने मुख्यमंत्री महंत योगी के अयोध्या में दीवाली मनाने को अयोध्या वासियों के लिए गर्व की बात कहा व राम जन्म भूमि निर्माण पर कहा कि समय आने पर न्याय संगत ढंग से मंदिर का निर्माण होगा।

कुलमिलाकर अयोध्‍या के गणमान्‍य लोगों की मानें तो कहीं ना कहीं दीपावली के दियों की जगमगाहट राजनैतिक दियों को भी रोशन करने की राह दिखा रही है।

अयोध्‍या रिपोर्ट – संदीप श्रीवास्‍तव