सीएम ठाकरे का कांग्रेस पर तीखा हमला, लोग जूतों से मारेंगे

मुंबई। महाराष्ट्र में शिवसेना और कांग्रेस के बीच दरार चौड़ी होती दिख रही है। शिवसेना ने अपने 55वें स्थापना दिवस पर हिंदुत्व और मराठी अस्मिता की बात की। इस दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस पर इशारों में तीखा हमला किया। उद्धव ने कहा कि अगर कोई अकेले लड़ने की बात करेगा तो लोग जूतों से मारेंगे। बताते चलें कि हाल ही में महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने अगले सभी चुनाव अकेले लड़ने की बात कही थी।
‘तो लोग जूतों से मारेंगे…’
कांग्रेस के अपने दम पर चुनाव लड़ने के मुद्दे पर ठाकरे ने कहा कि कुछ लोग अपने बल पर चुनाव लड़ने की बात कर रहे हैं। कोरोना काल में हृदय विदारक स्थिति है। लोगों का रोजगार गया, रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है। ऐसे में अगर कोई अकेले लड़ने की बात करेगा, तो लोग जूतों से मारेंगे।
‘हिंदुत्व-मराठी अस्मिता प्राथमिकता’
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शिवसेना स्थापना दिवस पर अपने संबोधन में हिंदुत्व और मराठी अस्मिता को पार्टी की पहली प्राथमिकता बताया है। उन्होंने सत्ता में सहयोगी कांग्रेस और विरोधी दल बीजेपी पर निशाना साधा। उद्धव यह भी कहने से नहीं चूके कि वह सत्ता पर बने रहने के लिए कतई लाचार नहीं हैं। ठाकरे ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की जमकर सराहना की। इस मौके पर उन्होंने विशेष रूप से बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तारीफ की।
‘हिंदुत्व किसी का पेटेंट नहीं’
शनिवार को शिवसेना के स्थापना दिवस पर सोशल मीडिया के माध्यम से मुख्यमंत्री ने शिवसैनिकों को संबोधित किया। उन्होंने कहा, ‘हिंदुत्व किसी का पेटेंट नहीं है। हिंदुत्व हमारी सांस है, इसलिए शिवसैनिक पहले जय हिंद और उसके बाद जय महाराष्ट्र का नारा लगाते हैं। देवेंद्र फडणवीस का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि ‘महाविकास अघाड़ी बनने के बाद कुछ लोगों के पेट में दर्द हो रहा है, लेकिन मैं डॉक्टर नहीं हूं। उन्हें वक्त आने पर राजनीतिक दवा दूंगा। सत्ता न मिलने पर कई लोग छटपटा रहे हैं। हमसे पूछा जा रहा है कि एक साल में क्या किया, तो मैं उनसे कहना चाहूंगा कि वे काम देख लें।’
‘डर गया, तो कैसा शिवसैनिक’
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब शिवसेना पर संकीर्णता और प्रांतवाद का आरोप लगाया गया, तब भी शिवसेना प्रमुख आगे बढ़े। जो मुसीबत से डर जाए, तो वह शिवसैनिक कैसा? हमें संकट को उसकी छाती पर चढ़कर मात देना सिखाया गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *