हादसे के 16 घंटे के बाद अमृतसर पहुंचे सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह

अमृतसर। पंजाब की राजधानी अमृतसर में शुक्रवार रात हुए रेल हादसे के 16 घंटे बीतने के बाद अब राज्य के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह अमृतसर पहुंचे हैं। हादसे के वक्त दिल्ली के दौरे पर गए अमरिंदर सिंह ने शनिवार सुबह अमृतसर पहुंचने के बाद यहां श्री गुरु राम दास जी हवाई अड्डे पर रेलवे और स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक की है। इस बैठक के बाद सिंह ने अमृतसर के अमनदीप अस्पताल में घायलों से मुलाकात कर चिकित्सकों को सभी के इलाज के लिए पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। वहीं अमरिंदर सिंह के दौरे से पहले अमृतसर के अस्पताल में पंजाब सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई है।
बता दें कि इससे पहले अमरिंदर सिंह ने एयरपोर्ट पर बैठक के बाद अस्पताल जाने की घोषणा की थी। बैठक के बाद अमरिंदर सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘मैंने अमृतसर पहुंचकर एयरपोर्ट पर एक बैठक में जिला प्रशासन और आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों से घटना एवं राहत कार्यों की जानकारी ली है। इसके बाद अब मैं अस्पताल में भर्ती लोगों से मुलाकात के लिए जा रहा हूं।’ अमरिंदर सिंह के साथ इस बैठक में पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू एवं अन्य वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी शामिल हुए हैं।
सिद्धू ने किया था घटनास्थल का दौरा
बता दें कि अमरिंदर सिंह के दौरे से पहले शुक्रवार देर रात रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने भी पंजाब का दौरा किया था। इस दौरे पर रेल राज्य मंत्री ने अमृतसर हादसे के पीड़ितों से मुलाकात की थी, साथ ही हताहत लोगों के लिए मुआवजे का ऐलान भी किया गया था। रेल राज्य मंत्री के इस दौरे के बाद पंजाब सरकार के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने भी घटनास्थल और अमृतसर के अस्पताल का दौरा किया था। शनिवार सुबह अपने दौरे के बाद ‘यह बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण हादसा है। जिनकी मृत्यु हुई, उनकी भरपाई किसी तरह से नहीं की जा सकती।’ उन्होंने कहा, ‘इस वक्त सबको कंधे से कंधा मिलाना चाहिए और जो हादसे में बचे लोगों को सहायता देनी चाहिए।’
सिद्धू बोले, मामले पर ना की जाए राजनीति
सिद्धू ने कहा कि ट्रेन ने हॉर्न नहीं दिया। उन्होंने कहा,’ट्रेन बहुत तेज रफ्तार से आई और सब चंद सेकंड्स में हो गया। ट्रेन ने हॉर्न भी नहीं दिया। सीएम अमरिंदर सिंह ने इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं।’ सिद्धू ने इसे हादसा बताकर इस पर राजनीति न करने की बात की। उन्होंने कहा, ‘भगवान के सामने सब बेबस हैं। मेरी अपील है कि इस मामले पर राजनीति नहीं करनी चाहिए। यह एक हादसा है, गुस्सा आना लाजमी है, लेकिन इसमें किसी ने कुछ भी जानबूझकर नहीं किया है। किसी का भी मंतव्य इसमें शामिल नहीं था।’ बता दें कि सिद्धू के इस दौरे से पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह के दिल्ली में होने और समय पर राज्य में ना पहुंचने को लेकर सोशल मीडिया पर तमाम लोगों ने उनकी आलोचना भी की थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *