पुरुष टूर्नामेंट में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला बनेंगी क्लेयर पोलोसेक

सिडनी। क्लेयर पोलोसेक ने कभी क्रिकेट नहीं खेला। वह कई बार अंपायर टेस्ट में फेल हुईं लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और अब वह ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष पुरुष टूर्नामेंट में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला बनेंगी। वह रविवार को न्यू साउथ वेल्स और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया XI के बीच वनडे मैच में अंपायरिंग करेंगी।
पोलोसेक वरिष्ठ अंपायर पॉल विलसन के साथ हर्ट्सविले ओवल मैदान पर अंपायरिंग करेंगी। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क भी खेल सकते हैं।
29 वर्षीय क्लेयर इस साल इंग्लैंड में हुए महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप के चार मैचों में भी अंपायरिंग कर चुकी हैं। उन्होंने कहा कि वह हमेशा से क्रिकेट अंपायर बनना चाहती थीं हालांकि उन्हें खेलने का कोई तजुर्बा नहीं है।
उन्होंने बुधवार को सिडनी में पत्रकारों को बताया, ‘मैंने कभी क्रिकेट नहीं खेला, यह बात कई लोगों को हैरान करती है।’ उन्होंने यह भी बताया कि उनके माता-पिता ने अंपायरिंग के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया।
उन्होंने कहा, ‘मैं हमेशा से क्रिकेट फॉलो करती थी। मेरे माता-पिता ने मुझे प्रोत्साहित किया। मेरे पिता मुझे अंपायरिंग का कोर्स करवाने ले जाते थे। मुझे टेस्ट पास करने में एक से अधिक मौके लगे लेकिन मैं यही काम करना चाहती थी। मैंने इस पर लगातार मेहनत की।’
पोलोसेक बीते करीब दो साल से क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के डिवलेपमेंट अंपायर पैनल का हिस्सा हैं। इससे पहले वह पुरुषों के क्रिकेट में थर्ड अंपायर रह चुकी हैं।
-एजेंसी