सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा अब Politics for Agra में भी भाग लेगी

आगरा। सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा ने अपनी कोर समिति की मीटिंग होटल KS Royal में आहूत की जिसमें निर्णय लिया गया कि अब Politics for Agra यानि शहर की सक्रिय राजनीति में भी भाग लिया जाएगा।

Politics for Agra के तहत निर्णय लिया गया कि चुनाव के परिणाम आने के बाद- चुने हुए सांसद के साथ चर्चा कर आ रही अड़चन को दूर करने के लिए दबाब बनाना। साथ ही टीटीजेड के नवनिर्वाचित सदस्यों के साथ मुलाकात और जरुरत पड़ी तो सुप्रीम कोर्ट में लंबित एमसी मेहता के केस में पार्टी बनने पर मंथन किया गया। सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा सही जगह पर दबाब बनाएगी। साथ ही एयरलाइन्स से भी चर्चा की जा रही है।

सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा ने आगरा की राजनीति में सहभागिता में भाग लेने का निर्णय लिया। आने वाले २०२२ के चुनाव में मुद्दे की राजनीति हो न कि जातिगत। आगरा का विकास सब से ऊपर रहेगा। सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा मुद्दों पर रिसर्च करेगी और उपयुक्त जीतने वाले प्रत्याशी का समर्थन करेगी। सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा, नुक्कड़ सभा कर मतदाताओं को जागरूक करेगी और आगरा शहर की विकास के मुद्दों पर चर्चा। सिविल सोसाइटी का पूरा ध्यान आगरा पर होगा। जरुरत पड़ने पर सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा राजनैतिक पार्टी के प्रत्याशी का समर्थन करेगी या स्‍थिति होने पर अपना प्रत्याशी भी मैदान में उतर सकती है। हमारा एजेंडा आगरा का विकास है। अभी हम एअरपोर्ट के लिए प्रतिबद्ध हैं, आगे आने वाले समय में शहर के दूूसरे मुद्दे भी उताहे जायेंगे।

सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा का मानना है आगरा के विकास के लिए राजनीती से अलग नहीं हुआ जा सकता। अभी तक आगरा से चुने हुए सांसद, विधायक जीतने के बाद आगरा के विकास पर हो रही ना इंसाफी का विरोध नहीं करते हैं और ना ही मुद्दा सही जगह उठाते हैं। सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा आने वाले विधान सभा चुनाव में मुद्दों के साथ साथ राजनातिक भागीदारी भी करेगी. सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा का मन्ना है- “सोच बदलनी होगी” तभी विकास होगा।

मीटिंग में शिरोमणि सिंह, डॉ. ब्रजेश चन्द्र, राजीव सक्सेना, डॉ. संजय चतुर्वेदी, डॉ. शिल्पा दीक्षित , दयाल कालरा, भुवनेश श्रोतिय, किसान नेता भोले, अनिल शर्मा, मनीष जैन आदि ने अपने विचार रखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »