चिराग पासवान का फैसला, बिहार में अकेले लड़ेगी चुनाव LJP

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के बीच लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) का मसला आज सुलझ जाने की उम्‍मीद है। एलजेपी 143 सीटों पर चुनाव लड़ेगी या एनडीए में रहते हुए दी जा रही सीटों पर समझौता कर लेगी, इसपर से पर्दा हटने में अब कुछ ही देर है। अपराह्न तीन बजे से शुरू हो चुकी एलजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक में इसपर पार्टी के अध्‍यक्ष चिराग पासवान फैसला लेंगे।

विदित हो कि एलजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक शनिवार को ही होनी थी, लेकिन पार्टी के संसथापक राम विलास पासवान की तबीयत अचानक खराब हो जाने के कारण बैठक सथगित कर दी गई। देर रात राम विलास पासवान का दिल का ऑपरेशन किया गया। इसके बाद रविवार को यह अहम बैठक हो रही है।

बिहार विधानसभा चुनाव के पहले पार्टी की यह आखिरी बैठक होगी। इस बैठक में एनडीए के साथ चुनाव लड़ने या 143 सीटों पर उम्मीदवार खड़े करने पर अंतिम फैसला होना है। एलजेपी अपने लिए पसंद की 36 सीटों की मांग कर रही है। एलजेपी की इस मांग को मान लेने पर बीजेपी और जेडीयू को कई सीटों पर समझौता करना होगा। इसके पहले एलजेपी ने 143 सीटों तथा जेडीयू के खिलाफ पर प्रत्‍याशी उतारने की बात कही थी।

बीजेपी ने लगातार की डैमेज कंट्रोल की कोशिश

एनडीए में चिराग को शामिल रखने को लेकर बीजेपी की तरफ से डैमेज कंट्रोल की हर मुमकिन कोशिश की जा चुकी है। शुक्रवार से चिराग पासवान की बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) एवं गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) से कई बार बात हुई है। अब फैसला चिराग पासवान को लेना है। हालांकि, सूत्र बताते हैं कि इस मुद्दे पर एनडीए छोड़ने के फैसले को पार्टी के कई वरीय नेता आत्‍मघाती मान रहे हैं। इस बीच रामविलास पासवान की तबीयत भी नाजुक हो गई है। ऐसे मुश्किल हालात में चिराग के रूख में नरमी की उम्‍मीद की जा रही है।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *