चीनी गेम टाइकून लिन ची को जहर देकर मारा गया: शंघाई पुलिस

बीजिंग। चीनी गेम टाइकून Lin Chi की क्रिसमस के दिन मौत हो गई थी, उन्हें ज़हर दिया गया था. चीन की शंघाई पुलिस ने इसकी पुष्टि की है.
39 वर्षीय लिन ची, यूज़ू नाम की गेम डिवलेपर कंपनी के चेयरमेन और चीफ़ एग्जेक्युटिव थे. उन्हें गेम ऑफ थ्रोन्स: विंटर इज़ कमिंग स्ट्रैटिजी गेम बनाने के लिए जाना जाता था.
शंघाई पुलिस ने बयान जारी कर ची के एक अहम सहयोगी को मुख्य संदिग्ध बताया है. हालांकि पुलिस ने उस व्यक्ति का नाम उजागर नहीं किया और उसे सिर्फ़ उसके उपनाम जू से संबोधित किया.
हुरुन चाइना रिच लिस्ट के अनुसार लिन की कुल संपत्ति क़रीब 6.8 अरब युआन यानी क़रीब एक अरब डॉलर थी.
शंघाई पुलिस के मुताबिक़ ची की कंपनी के कई कर्मचारी और पूर्व कर्मचारी शुक्रवार को शोक प्रकट करने के लिए उनके दफ़्तर के बाहर इकट्ठा हुए.
कंपनी ने अपने आधिकारिक वीबो माइक्रोब्लॉग पर एक भावनात्मक बयान भी जारी किया.
उन्होंने लिखा, “अलविदा युवा… हम एक साथ रहेंगे, दयालु बने रहेंगे, अच्छाई पर विश्वास करते रहेंगे और जो बुरा है, उसके ख़िलाफ़ लड़ाई जारी रखें.”
पोस्ट पर हज़ारों लोगों ने कमेन्ट किए और इसे वीबो पर 29 करोड़ से अधिक बार देखा गया.
गेम ऑफ थ्रोन्स से जुड़े गेम के अलावा यूज़ू ने ब्रॉल स्टार जैसे कई सुपर हिट गेम भी बनाए हैं.
थ्री-बॉडी प्रॉब्लम
कंपनी को चाइनीज साई-फाई उपन्यास थ्री-बॉडी प्रॉब्लम के साथ अपने कनेक्शन के लिए भी जाना जाता है और इस पर फिल्म बनाने के राइट्स उन्हीं के पास है.
लेकिन मोशन पिक्चर के क्षेत्र में कंपनी के बिज़नेस का विस्तार उम्मीद के मुताबिक सफ़ल नहीं रहा और किताब को छह फ़िल्मों में बदलने का प्रोजेक्ट कभी शुरू नहीं हो पाया.
सितंबर में कंपनी ने नेटफ्लिक्स को इसपर टीवी प्रोग्राम बनाने का अधिकार दे दिया.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *