लद्दाख के पास चीन की सेना का युद्धाभ्‍यास भी फर्जी, तस्‍वीरें शेयर करके खुद फंसा ड्रैगन

पेइचिंग। लद्दाख में भारतीय सीमा के पास अक्‍सर युद्धाभ्‍यास की तस्‍वीरें और वीडियो को शेयर करके मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने की कोशिश करने वाले चीन के दुष्‍प्रचार की पोल खुल गई है।
चीन का सरकारी टीवी चैनल सीसीटीवी तिब्‍बत के इलाके में 4700 मीटर की ऊंचाई पर चीनी सेना के युद्धाभ्‍यास की तस्‍वीरें शेयर करके खुद ही बुरी तरह से फंस गया है। अब चीनी सेना की ये तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हो रही हैं।
क्‍या है पूरा मामला
दरअसल, चीन के सरकारी टीवी चैनल सीसीटीवी ने जो तस्‍वीरें शेयर की हैं, उसमें नजर आ रहा है कि चीनी सैनिक गोली चलाने के लिए निशाना साध रहे हैं। इसमें सैनिक राइफल में लगे पेरिस्‍कोप से देखकर निशाना साध रहे हैं। इसी तस्‍वीर को खींचने में चीनी दुष्‍प्रचार तंत्र से बड़ी चूक हो गई। असल में चीनी सैनिक केवल फोटो खिंचाने के लिए निशाना साध रहे थे।
पेरिस्‍कोप में लगा रबर का अगला हिस्‍सा झुका हुआ
चीनी सैनिक जिस समय निशाना साध रहे थे, उस समय उनके पेरिस्‍कोप में लगा रबर का अगला हिस्‍सा झुका हुआ था। ऐसे में चीनी सैनिक बिना पेरिस्‍कोप के निशाना साध रहे थे और दावा कर रहे थे कि वे असल में निशाना लगा रहे हैं। रबर के हिस्‍से के झुके होने की वजह से चीनी सैनिकों का सटीक निशाना लगाना असंभव था। इस अभ्‍यास पर सीसीटीवी ने दावा किया कि चीनी सैनिक 4700 मीटर की ऊंचाई पर निशाना साध रहे हैं। चीनी सैनिकों के फर्जी अभ्‍यास की पोल खोली है OSINT विशेषज्ञ कर्नल विनायक भट्ट ने।
चीन का दुष्‍प्रचार तंत्र भारत पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने और अपनी जनता को खुश करने के लिए अक्‍सर इस तरह के वीडियो और फोटो जारी करता रहता है। इससे पहले भी चीन का दांव उल्‍टा पड़ चुका है और उसकी थू-थू हो चुकी है। इससे पहले चीन ने डराने के लिए मिसाइल लॉन्‍चर के आकार के गुब्‍बारे को पेंट करके उसमें हवा भर दी। हद तो तब हो गई जब चीन के प्रोपेगैंडा फैलाने वाले तंत्र ने इसे मिसाइल लॉन्‍चर बताकर शेयर करना शुरू कर दिया। हालांकि एक गड़बड़ी से उनके इस दावे की हवा निकल गई और अब उनकी जमकर किरकिरी हो रही है।
गुब्‍बारे को रॉकेट लॉन्‍चर की शक्‍ल दिया
चीन की सेना पीएलए ने जिस गुब्‍बारे को रॉकेट लॉन्‍चर की शक्‍ल दिया था, वह एक जगह से प‍िचका हुआ था। चीन के दुष्‍प्रचार तंत्र को जब यह अहसास हुआ तो उन्‍होंने इस फोटो को हटा लिया। अब सोशल मीडिया में चीन की जमकर किरकिरी हो रही है। युद्ध में अपने शत्रु देश को धोखा देने के लिए दुनिया के कई देश नकली हथियार तैनात करते हैं।
टैंक के वीडियो को लेकर चीन की जमकर किरकिरी
चीन की इस चाल का शिकार खुद उसी का तंत्र हो गया। इससे पहले सोशल मीडिया में वायरल चीनी टैंक के वीडियो को लेकर ड्रैगन की जमकर किरकिरी हुई थी। पिछले दिनों सोशल मीडिया पर शेयर हुए इस वीडियो में दिखाई दे रहा था कि उसका एक amphibious टैंक जो पानी के अंदर और बाहर, दोनों जगह फंक्शन कर सकता है, वह खुद ही डूब जाता है। कहा जाता है कि पानी के रास्ते ही चीन ताइवान को निशाना बनाने की फिराक में है। ऐसे में इस वीडियो ने उसकी गुणवत्ता पर सवाल खड़ा कर दिया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *