सरकारी भोंपू से चीन की चेतावनी, अगर युद्ध छिड़ा तो अमेरिका हार जाएगा

बीजिंग। चीन का दुस्साहस तो देखिए, अब वह अमेरिका को खुलेआम चुनौती देने से भी नहीं हिचक रहा। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने अपने संपादकीय में चीन को सुपरपावर बताते हुए अमेरिका को चेतावनी दी है कि अगर युद्ध छिड़ा तो उसमें अमेरिका की हार होगी।
इस अखबार को चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी का मुखपत्र माना जाता है। इसमें प्रकाशित बात सरकार का बयान मानी जाती है।
ग्लोबल टाइम्स ने यह संपादकीय जापान, ऑस्ट्रेलिया और फ्रांस के सैन्य अभ्यास में अमेरिका के भी शामिल होने पर कही है। इससे पहले गुरुवार को चीन ने कहा था कि दक्षिणी जापान में हो रहे इस सैन्य अभ्यास से उसकी सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ता। यह सैन्य अभ्यास सिर्फ तेल ईंधन की बर्बादी है। चीन पूरे दक्षिण चीन सागर को अपनी संपत्ति बताता है। वह इस पर ब्रूनेई, मलेशिया, फिलीपींस, वियतनाम और ताइवान के दावे को नकारता है। इतना ही नहीं, ताइवान की संप्रभुता को नकारते हुए उसे अपना हिस्सा बताता है। जापान के हिस्से के समुद्र को भी पूर्वी चीन सागर बताते हुए चीन उस पर अपना अधिकार जताता है और जब-तब वहां पर अपने जंगी जहाज भेजता रहता है, लड़ाकू विमान आकाश में उड़ाता रहता है।
ग्लोबल टाइम्स लिखता है कि दक्षिण चीन सागर को लेकर दोनों देशों में अगर युद्ध छिड़ा तो उसमें अमेरिका की हार होगी। अमेरिकी विशेषज्ञ एलेक्स मिहाइलोविच इस संपादकीय को चीन की बेचैनी का सुबूत मानते हैं जो क्षेत्र में बढ़ती अमेरिका की ताकत को लेकर चिंतित है। क्षेत्र में अमेरिका की लगातार सक्रियता और इस बड़े सैन्य अभ्यास से चीन बौखला गया है जबकि ब्रिटेन के पूर्व सांसद जॉर्ज गैलोवे कहते हैं कि अमेरिका की क्षेत्र में बढ़ती सक्रियता से चीन अपनी सैन्य तैयारी तेज करेगा और दोनों देशों में टकराव की आशंका बढ़ेगी।
ब्रिटिश न्यूज वेबसाइट एक्सप्रेसडॉटसीओडॉटयूके के अनुसार इसी सप्ताह की शुरुआत में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने अपने मरीन कमांडो की ट्रेनिंग का एक वीडियो सार्वजनिक किया है। इसमें वे एक द्वीप पर हमला करते दिखाई दे रहे हैं। माना जा रहा है कि इसके जरिये चीन ताइवान को धमकाने का प्रयास कर रहा है। साथ ही वह अपनी सैन्य तैयारी बढ़ाने का संदेश भी दे रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *