अमेरिका द्वारा ताइवान को मिसाइलों की बिक्री पर चीन बौखलाया

पेइचिंग। ताइवान को अमेरिका के पैट्रियॉट एडवांस कैपिबिलिटी-3 मिसाइलों की बिक्री से चीन बौखलाया हुआ है। चीनी विदेश मंत्रालय ने इस डील पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए ऐलान किया है कि वह इस मिसाइल को बनाने वाली अमेरिकी हथियार निर्माता कंपनी लॉकहीड मॉर्टिन पर प्रतिबंध लगाएगा। 620 मिलियन डॉलर की अनुमानित लागत वाले इस रक्षा सौदे को अमेरिकी रक्षा विभाग की मंजूरी मिल चुकी है।
ताइवान में शांति के लिए चीन ने डील रद्द करने की मांग की
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने मंगलवार को पेइचिंग में एक ब्रीफिंग में कहा कि अमेरिका को ताइवान के साथ अपने सैन्य संबंधों को खत्म करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस डील को रद्द करने से अमेरिका चीन के द्विपक्षीय संबंधों को नुकसान नहीं पहुंचेगा और ताइवान में शांति-स्थिरता बनी रहेगी।
लॉकहीड मॉर्टिन पर प्रतिबंध लगाएगा चीन
झाओ ने कहा कि चीन हर स्तर पर ताइवान को किए जा रहे हथियारों की बिक्री का विरोध करता है। हमने चीन के राष्ट्रीय हितों को रक्षा करने के लिए कुछ प्रभावी कदम उठाने का फैसला किया है। जिसके तहत हम इस मिसाइल के निर्माता लॉकहीड मॉर्टिन पर प्रतिबंध लगाने जा रहे हैं।
अमेरिका को सुरक्षा शुल्क चुका रहा ताइवान
अमेरिका से हथियार खरीदने पर चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने कटाक्ष करते हुए लिखा कि ताइवान इन रक्षा सौदों के जरिए अमेरिका को सुरक्षा शुल्क चुका रहा है। ताइवान की अपने लोगों की रक्षा करने में सक्षम नहीं है। ताइवान की रक्षा को पारंपरिक तरीके से नहीं आंका जा सकता है। यह केवल रणनीतिक संतुलन का परिणाम है। चीन की शक्ति के सामने ताइवान कहीं नहीं टिकता।
इन मुद्दों को लेकर अमेरिका चीन में विवाद
अमेरिका और चीन के बीच विवाद का प्रमुख कारण दुनिया में अपना धौस जमाना है। ट्रेड वॉर के बाद, कोरोना वायरस, हॉन्ग कॉन्ग में नया सुरक्षा कानून, साउथ चाइना सी में अधिपत्य की होड़, भारत-जापान-ऑस्ट्रेलिया और ताइवान के खिलाफ चीन का आक्रामक रवैया, अमेरिकी पत्रकारों पर प्रतिबंध, उइगुरों का नरसंहार और तिब्बत को लेकर दोनों देशों के बीच विवाद है।
अमेरिका ने ताइवान को दी पैट्रियॉट मिसाइल तो चीन बोला, आग से मत खेलो
कितनी खतरनाक है अमेरिका की पैट्रियॉट मिसाइल
अमेरिका की पैट्रियॉट एडवांस्ड कैपेबिलिटी – 3 (PAC-3) मिसाइस दुनिया की सबसे बेहतरीन डिफेंस सिस्टम में से एक है। यह मिसाइल डिफेंस सिस्टम दुश्मन की बैलेस्टिक मिसाइल, क्रूज मिसाइल और लड़ाकू जहाजों को पल भर में मार गिराने में सक्षम है। सभी मौसम में दागे जाने वाली इस मिसाइल का निर्माण लॉकहिड मॉर्टिन ने किया है।
वर्तमान में इन देशों में तैनात है यह मिसाइल
पैट्रियॉट एडवांस्ड कैपेबिलिटी- 3 मिसाइल इस समय पूरे अमेरिका, जर्मनी, ग्रीस, इजरायल, जापान, कुवैत, नीदरलैंड, सऊदी अरब, कोरिया, पोलैंड, स्वीडन, कतर, संयुक्त अरब अमीरात, रोमानिया, स्पेन और ताइवान की सेना में शामिल है। 2003 के इराक युद्ध के दौरान अमेरिकी सेना ने पैट्रियॉट मिसाइल सिस्टम को तैनात किया। कुवैत में तैनात इस मिसाइल डिफेंस सिट्म ने दुश्मनों की कई मिसाइलों को हवा में ही नष्ट कर दिया था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *