भारत में त्रासदी का मजाक उड़ाने पर अपने ही घर में घिरा चीन

पेइचिंग। भारत में कोरोना त्रासदी में मदद का दावा कर सहानुभूति बटोरने का प्रयास कर रहे चीन की घटिया मानसिकता को खुद उसकी ही पार्टी ने दुनिया के सामने उजागर कर दिया है। इससे चीन की सत्‍तारूढ़ पार्टी की देश ही नहीं दुनियाभर में जमकर किरकिरी हो रही है।
दरअसल, चीन की कम्‍युनिस्‍ट पार्टी के एक सोशल मीडिया अकाउंट ने भारत में कोरोना त्रासदी का मजाक उड़ाया और कहा कि भारत में च‍िताएं जल रही हैं जबकि चीन अंतरिक्ष में स्‍पेस स्‍टेशन तैयार कर रहा है।
चीन की माइक्रो ब्‍लॉगिंग वेबसाइट वीबो पर कम्‍युनिस्‍ट पार्टी के सेंट्रल पोलिटिकल एंड लीगल अफेयर्स के अकाउंट से किए गए इस विवादित पोस्‍ट के बाद सोशल मीडिया में बवाल मच गया। इस पोस्‍ट में एक तरफ चीन के रॉकेट लॉन्‍च करने और दूसरी तरफ भारत में लाशों के जलाए जाने की तस्‍वीर को दिखाया गया है। इस पोस्‍ट में कैप्‍शन लिखा है, ‘चीन में आग जलाना बनाम भारत में आग जलाना।’
‘चीन को भारत के साथ सहानुभूति दिखानी चाहिए’
इस पोस्‍ट पर चीन के सोशल मीडिया यूजर्स ने बहुत तीखी प्रतिक्रिया दी और कम्‍युनिस्‍ट पार्टी की भारत में कोरोना त्रासदी के प्रति असंवेदनशीलता दिखाने के लिए कड़ी आलोचना की। वीबो यूजर्स ने कहा कि यह पोस्‍ट ‘अनुचित’ है और चीन को भारत के साथ सहानुभूति दिखानी चाहिए।’ इस आलोचना के बाद चीन के सरकारी भोंपू ग्‍लोबल टाइम्‍स के एडिटर हू शिजिन ने लिखा कि इस हमें भारत के लिए मानवीयता के परचम को इस बार ऊपर उठाना चाहिए।
हालांकि बाद में हू शिजिन का भी असली चेहरा दुनिया के सामने आ गया। हू शिजिन ने ट्वीट करके कहा, ‘कई चीनी लोगों की चिंता है कि ऑक्‍सीजन कंसट्रेटर्स और वेंटीलेटर जैसी आपातकालीन सप्‍लाई जो चीन भारत को देगा उसका इस्‍तेमाल भारत के गरीब मरीजों को बचाने की बजाय देश के अमीरों की जरूरत को पूरा करेगा।’ इस तरह ग्‍लोबल टाइम्‍स के एडिटर ने भारत की व्‍यवस्‍था पर सवाल उठाए।
चीन में 24 घंटा चल रहा काम: चीनी राजदूत
इससे पहले भारत में चीनी राजदूत ने ग्लोबल टाइम्स को दिए इंटरव्यू में दावा किया था कि ‘भारत की मांग के मुताबिक चीन मदद देने के लिए हरसंभव प्रयास करेगा।’ रिपोर्ट के मुताबिक भारत ने जिन 40 हजार ऑक्सिजन जनरेटर्स का ऑर्डर दिया है उनका उत्पादन जारी है। चीनी कंपनियां जल्द ही भारत को जरूरी मेडिकल सप्लाई मुहैया कराएंगी।
सुन ने इंटरव्यू में कहा है कि चीन को उम्मीद है कि भारत सरकार के नेतृत्व में स्थानीय लोग महामारी पर जल्द ही जीत हासिल कर लेंगे। उन्होंने कहा, ‘भारत की मदद करने में सबसे पहले चीन आगे आया है।’ अप्रैल से चीन ने 5000 से ज्यादा वेंटिलेटर, करीब 22 हजार ऑक्सिजन जनरेटर, 3800 टन दवाएं और 2.1 करोड़ मास्क भेजे हैं। उन्होंने बताया है कि चीनी कंपनियां पूरा दिन काम करके तेजी से 40 हजार ऑक्सिजन जनरेटर का उत्पादन कर रहे हैं और उन्हें जल्द से जल्द डिलिवर करने की कोशिश की जाएगी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *