मोदी को सत्ता से बेदखल करने का षड्यंत्र रच सकता है चीन: विजयवर्गीय

इंदौर। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इंदौर स्थित निवास पर मीडिया से चर्चा में कोरोना सहित अन्य मुद्दों पर बात की है। इस दौरान उन्होंने बताया कि एशियाई देशों में सिर्फ भारत इस संकट से जूझ रहा है।
उन्होंने एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए ये भी कहा कि चीन ने पहले ट्रंप को चुनाव हरवाने में मदद की, दूसरी खुन्नस उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से है।
उन्होंने कहा कि देश में जिस तरह से कोरोना महामारी चल रही है, उसमें विपक्ष सहित सभी को गंभीरता के साथ सरकार के साथ खड़े होकर जनता के दुख दर्द को मिटाने में सहयोग करना चाहिए। चीन के सवाल पर विजयवर्गीय ने कहा कि चीन किसी देश को आगे बढ़ने नहीं देता है और जो आगे बढ़ता है, उसे कमजोर करने में जुट जाता है। यह चाइना की पॉलिसी है।
सिर्फ भारत में दूसरी लहर का असर
कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि विश्व मीडिया में जो खबरें छप रही हैं उनके आधार पर यह कहने में संकोच नहीं कि कोरोना वायरस मानव निर्मित है। उन्होंने साफ किया कि दूसरी लहर की घातकता का ऐसा अनुमान इसलिए नहीं था क्योंकि अन्य एशियाई देशों में यह लहर नहीं थी। इसे लेकर चीन पर इसलिए शंका हो रही है कि अमेरिका के वैज्ञानिक भी कह रहे हैं कि मानव निर्मित वायरस वार चीन की साजिश हो सकती है।
उन्होंने कहा कि चीन ने पहले ट्रंप को चुनाव हरवाने में मदद कर हटाया, दूसरा खटका उसे प्रधानमंत्री मोदी से है क्योंकि केंद्र की कूटनीति के चलते असहाय हुए चीन को पहली बार भारत की जमीन से पैर पीछे खींचना पड़ा है। मोदी जी की कूटनीतिक सफलता के चलते कई इस्लामिक देश भारत के साथ आ गए हैं, इससे वह बौखलाया हुआ है।
इधर, इंदौर में कोरोना सख्ती को लेकर 20 मई को प्रशासन की तरफ से जारी आदेश के विरुद्ध किए गए ट्वीट पर उनका कहना था कि शहर के लोगों ने परेशानी बताई थी। सरकार ने कुछ निर्णय लिया तो सही-गलत तो बाद में ही समझ आता है। अच्छा है, अब दुकानें खुलना शुरू हो गई हैं।
मध्यप्रदेश में कमलनाथ के हनीट्रैप की पेन ड्राइव वाले बयान पर विजयवर्गीय ने कहा कि जब कोरोना जैसी महामारी फैली हो, तब जनता के आंसू पोंछने के लिए विपक्ष को सरकार के साथ खड़े रहना चाहिए, विपक्ष इजराइल से सीखे। संकट के समय मतभेद भुलाकर सरकार के साथ कैसे खड़े रहा जाता है।
मीडिया ने जब ब्लैक फंगस के मरीजों को हर दिन 6 इंजेक्शन की अनिवार्यता के बदले रोज एक इंजेक्शन भी नहीं मिलने की परेशानी से अवगत कराया तो विजयवर्गीय ने कहा कि मुझसे पहले केंद्र सरकार को सारी जानकारी है। प्रधानमंत्री मोदी इस संकट को लेकर बैठक बुला चुके हैं, मुख्यमंत्रियों से जानकारी ले चुके हैं। सरकार ये जरूरी दवाइयां अन्य देशों से इंपोर्ट कर सकती है, परेशानी इसलिए नहीं आएगी क्योंकि एशियाई देशों में सिर्फ भारत ही दूसरी लहर के संकट से जूझ रहा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *