कोरोना पर अमेरिका के दावे से बौखलाया चीन अब मांग रहा है सबूत

बीजिंग। कोराना वायरस यानी कोविड-19 के स्‍त्रोत को लेकर अमेरिका की ओर से बार-बार चीन पर महामारी फैलाने का आरोप लगाया जा रहा है। साथ ही अमेरिका यह भी कह रहा है कि चीन ने इसे अपने लैब में विकसित किया, और इसकी पुष्‍टि के लिए उसके पास तमाम सबूत हैं। अमेरिका के आरोपों से तिलमिलाए चीन ने अब वुहान के लैब में वायरस विकसित करने का प्रमाण मांगा है।
बता दें कि पिछले साल के अंत में चीन (China) से शुरू होने वाले कोविड-19 संक्रमण का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। इस बीच चीन ने बुधवार को अमेरिका के गृह सचिव माइक पोंपियो को चुनौती देते हुए कहा कि इस बात का प्रमाण पेश करें कि नॉवेल कोरोना वायरस को वुहान के लैब में विकसित किया गया है।
दरअसल, 3 मई को पोंपियो ने कहा था कि अमेरिका के पास इस बात के ढेर सारे प्रमाण हैं कि कोरोना वायरस की शुरुआत वुहान इंस्‍टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से हुई और बीजिंग ने अंतर्राष्‍ट्रीय वैज्ञानिकों को वहां पहुंचने की अनुमति नहीं दी जो इस वायरस की उत्‍पत्‍ति का पता लगाना चाहते थे। चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्‍ता हुआ चुनिंग ने मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि पोंपियो अपने उस दावे का प्रमाण पेश नहीं कर सकते हैं क्‍योंकि उनके पास इससे संबंधित कुछ नहीं है। उन्‍होंने कहा, ‘यह मामला वैज्ञानिकों का है न कि राजनीति का।’
नॉवेल कोरोना वायरस के कारण फैली महामारी के कारण पूरी दुनिया संकट में है और इसलिए अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने चीन पर आरोप लगाया था। ट्रंप ने कहा था कि महामारी को रोकने का प्रयास चीन ने नहीं किया, जिसका दंड पूरी दुनिया भुगत रही है और इसलिए वॉशिंगटन की ओर से बीजिंग पर टैरिफ लगाया जाएगा। इसके जवाब में चीन ने बुधवार को कहा कि टैरिफ को हथियार पर इस्‍तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। चीन की विदेश मंत्रालय की प्रवक्‍ता हुआ चुनिंग ने डेली ब्रीफिंग के दौरान कहा कि टैरिफ को हथियार के तौर पर इस्‍तेमाल करने के बारे में अमेरिका सोचना छोड़ दे।
वहीं चीन में आज दो नए संक्रमितों की पुष्‍टि हुई। 20 नए स्‍पर्शोन्‍मुख मामले भी सामने आए। इसमें से तीन मामले बाहर से आए हैं, इसके साथ ही कुल मामलों का आंकड़ा 960 पर पहुंच गया। स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों ने यह जानकारी बुधवार को दी। राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य आयोग ने बुधवार को कहा कि चीन में स्‍थानीय संक्रमण का कोई मामला मंगलवार को नहीं आया। बाहर से आए दो मामलों की पुष्‍टि चीन के शांक्‍सी प्रांत में हुई। वहीं नॉवेल कोरोनावायरस के 20 नए स्‍पर्शोन्‍मुख संक्रमित मामले सामने आए। कोविड-19 से संक्रमित होने के बावजूद जिनमें इस बीमारी के कोई लक्षण जैसे बुखार, कफ, जुकाम के साथ सांस संबंधित परेशानियां न हों और जांच में पॉजिटिव आए, उन्‍हें स्‍पर्शोन्‍मुख मामले कहते हैं।
बता दें कि विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के अनुसार बुधवार शाम 4 बजे तक दुनिया भर में कोविड-19 संक्रमण का आंकड़ा 3,557,235 हो गया जिसमें से 245,150 लोगों की मौत हो गई।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *