चीन: क्रॉस कंट्री माउंटेन रेस में हिस्‍सा ले रहे 21 धावकों की मौत

बीजिंग। चीन में खराब मौसम की वजह से एक मैराथन में हिस्‍सा लेने वाले 21 धावकों की मौत हो गई। इस घटना ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। ये घटना अपने आप में बेहद अनूठी है जब खराब मौसम ने इतने धावकों की जान ले ली।
अधिकारियों के मुताबिक ये घटना बैयिन शहर की है जो उत्‍तर पश्चिम गांसु प्रांत स्थित है। यहां पर आयोज‍कों ने 100 किमी लंबी क्रॉस कंट्री माउंटेन रेस का आयोजित की थी।
शुरुआत में सब कुछ ठीक था लेकिन रेस शुरू होने के कुछ समय के बाद अचानक मौसम खराब होने लगा। यैलो नदी के आसपास की ऊंचाई वाले इलाके में आया ये मौसमी बदलाव धावकों के लिए विनाशकारी साबित हुआ। मौसम खराब होने के साथ तेज बारिश और हवाएं चलने लगी। इसके अलावा वहां पर हुई ओलावृष्टि और बर्फबारी ने वहां पर रही सही कसर भी पूरी कर दी। इसकी वजह से धावकों को दिक्‍कत होने लगी। उन्‍हें सांस लेने संबंध शिकायतें और हाइपोथर्मिया की शिकायत बढ़ने लगी।
इसकी वजह से 21 धावकों के लिए ये रेस अंतिम रेस साबित हुई। बचाव कर्मियों ने तुरंत हरकत में आते हुए खराब मौसम का शिकार बने धावकों को मदद पहुंचाने का काम किया। अधिकारियों के मुताबिक खराब मौसम की वजह से एक धावक लापता हो गया था जिसका शव बाद में सुबह मिल सका। बेहद ठंड होने की वजह से उसके शरीर के अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। बैयिन शहर के अधिकारियों ने एक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान इसकी पुष्टि की है।
इन अधिकारियों का कहना है कि येलो नदी के अत्यधिक ऊंचाई वाले इलाके में अचानक हुए मौसमी बदलाव की वजह से ये सब कुछ हुआ है। बैयिन शहर के मेयर झांग जुचेन के मुताबिक दोपहर में 20 से 31 किमी का हिस्‍सा अचानक विनाशकारी मौसम से प्रभावित हो गया। देखते ही देखते वहां पर ओलावृष्टि और बर्फ की बारिश के साथ तेज हवाएं चलने लगीं। इसकी वजह से वहां का तापमान अचानक काफी नीचे चला गया था। इस दौड़ में हिस्‍सा लेने वाले धावकों की तरफ से मिले मदद के संदेश के बाद आयोजकों ने प्रभावित इलाके में बचावदल को भेजा, जिसने 18 प्रतिभागियों को बचा लिया। इसके बाद इस दौड़ को तुरंत रद्द कर दिया गया। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए स्थानीय अधिकारियों ने मदद के लिए तुरंत बचाव दल भेजे हैं।
झांग के मुताबिक इस रेस में शामिल आठ धावकों का मामूली चोट आई है जिसके बाद उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती करवाया गया है। चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक इस रेस में हिस्‍सा लेने वाले कई धावक हाइपोथर्मिया के शिकार थे। एजेंसी के मुताबिक ऊंचाई वाले इस इलाके में खराब मौसम की वजह से बचाव कार्यमें काफी परेशानी का सामना करना पड़ा है। एजेंसी की तरफ से कहा गया है कि रविवार की सुबह तक 146 धावक सुरक्षित मिल गए थे, जबकि पांच को मामूली चोट आई थी। इस रेस में 172 धावक हिस्‍सा ले रहे थे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *