छत्तीसगढ़: दुष्‍कर्म की कोशिश के बाद बच्‍ची को जिंदा जलाया, मौत

रायपुर। छत्तीसगढ़ के बेमेतरा ज़िले के एक गाँव में 14 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म की कोशिश के बाद उसे ज़िंदा जला देने का मामला सामने आया है. पीड़िता को गंभीर हालत में राजधानी रायपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहाँ दो दिनों के बाद उसकी मौत हो गई.
बेमेतरा ज़िले के एसपी दिव्यांग पटेल ने बताया, “इस मामले में दो अभियुक्तों की गिरफ़्तारी की गई है. हमारी कोशिश होगी कि इस मामले में जल्दी से जल्दी चालान पेश हो और मामले की सुनवाई फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में हो.”
पुलिस के अनुसार सोमवार को बेमेतरा ज़िले के दाढ़ी थानांतर्गत एक गाँव में 14 साल की बच्ची बकरी चराने के लिये खेत में गई हुई थी, जहाँ गाँव के ही दो लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म की कोशिश की.
पुलिस का कहना है कि दुष्कर्म में असफल होने के बाद अभियुक्तों ने पीड़िता को जिंदा जलाया. पीड़िता के घर से कुछ ही दूर नदी किनारे हुई इस घटना के बाद बच्ची के शोर मचाने पर गाँव के लोग वहाँ पहुँचे और बच्ची को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ से उसे इलाज के लिये रायपुर भेजा गया था.
बच्ची ने अपने अंतिम बयान में गाँव के ही लोगों की इस घटना में शामिल होने की जानकारी दी थी, जिसके बाद पुलिस ने एक किशोर के अलावा 22 साल के एक युवक को गिरफ़्तार किया है.
गाँव के लोगों का आरोप है कि इस मामले में कुछ रसूखदार लोग शामिल हैं, जिन्हें बचाया जा रहा है. हालाँकि पुलिस ने ऐसे आरोपों से इंकार किया है.
इधर रायपुर ज़िले के खरोरा इलाक़े में अपने एक रिश्तेदार द्वारा दुष्कर्म के बाद 14 साल की बच्ची ने आत्महत्या की कोशिश की. बच्ची को इलाज के लिए रायपुर के अस्पताल में भर्ती किया गया है. बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है.
पुलिस के अनुसार 14 साल की बच्ची अपने घर में अकेली थी, उसी दौरान उसके 19 वर्षीय रिश्तेदार ने उसके साथ दुष्कर्म किया.
नाबालिगों से दुष्कर्म के मामले में छत्तीसगढ़ तीसरे नंबर पर
भारत सरकार के नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो यानी एनसीआरबी के जो सबसे ताज़ा आँकड़े हैं, उसके अनुसार देश भर में महिलाओं से दुष्कर्म के सर्वाधिक मामले जिन पाँच राज्यों में हुए हैं, उनमें छत्तीसगढ़ भी शामिल है.
देश भर में दुष्कर्म के कुल मामलों में से 27.8 फ़ीसदी मामले ऐसे थे, जहाँ पीड़िता नाबालिग थी. छत्तीसगढ़ में दुष्कर्म के कुल मामलों में पीड़ित नाबालिगों की संख्या 58 फ़ीसदी थी.
एनसीआरबी के 2018 के आँकड़ों के अनुसार देश भर में महिलाओं से दुष्कर्म के 33,977 मामले सामने आए, जिनमें मध्यप्रदेश में 5450, राजस्थान में 4337, उत्तर प्रदेश में 4322, महाराष्ट्र में 2149 और छत्तीसगढ़ में 2101 मामले दर्ज किए गए.
इनमें नाबालिगों से हुए दुष्कर्म के मामलों की संख्या 9,433 थी. जो देश में हुए दुष्कर्म का 27.8 फ़ीसदी है.
2018 में नाबालिगों से दुष्कर्म के सर्वाधिक 2841 मामले मध्य प्रदेश में दर्ज किए गए. इसके बाद उत्तर प्रदेश में 1411, छत्तीसगढ़ में 1219, केरल में 1156 और राजस्थान में 1032 मामले दर्ज किए गए.
आँकड़ों के अनुसार 6 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म के सर्वाधिक 67 मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज़ किए गए, वहीं मध्य प्रदेश में 54, केरल में 48, छत्तीसगढ़ में 41 और राजस्थान में 17 ऐसे मामले दर्ज किए गए, जहाँ पीड़िता की उम्र 6 साल से कम थी.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *