आंध्र प्रदेश के गुंटूर की Rally में प्रधानमंत्री के निशाने पर रहे चंद्रबाबू नायडू

अमरावती। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर में Rally के दौरान सीएम चंद्रबाबू नायडू और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। यह Rally कई मायनों में अहम है क्योंकि टीडीपी के एनडीए से अलग होने के बाद पीएम पहली बार प्रदेश आए हैं।
Rally में प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने आंध्र के गरीबों के लिए नई योजनाएं चलाने का वादा किया था लेकिन मोदी की योजनाओं पर ही अपना स्टीकर लगा दिया है। इस दौरान उन्होंने एनटी रामाराव का नाम लेकर चंद्रबाबू नायडू पर तीखा निशाना साधा। पीएम मोदी ने कहा कि नायडू ने अपने ससुर (एनटी रामाराव) की पीठ पर छुरा घोंपा है। पीएम मोदी ने अपने भाषण में चंद्रबाबू को एन लोकेश के पिता कहकर बार-बार संबोधित किया।
पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं तो हैरान हूं कि आखिर सीएम को हो क्या गया है वो बार-बार मुझे याद दिलाते हैं कि वो मुझसे बहुत सीनियर हैं। मैं कहता हूं कि आप सीनियर हैं इसलिए आपके सम्मान में कोई कमी नहीं छोड़ी। आप सीनियर हैं दल बदलने में, आप सीनियर हैं नए-नए दल से गठबंधन करने में। आप सीनियर हैं खुद के ससुर की पीठ पर छुरा घोंपने में। आप सीनियर हैं एक चुनाव के बाद दूसरे चुनाव हारने में, मैं तो उसमें सीनियर हूं नहीं।’
‘आप सीनियर हैं जिसको गाली दें कल उसकी गोद में बैठने में’
पीएम मोदी ने कहा, ‘आप सीनियर हैं आज जिसको गाली दें कल उसकी गोद में बैठने में। आप सीनियर में आंध्र के सपनों को चूर-चूर करने में।’ पीएम मोदी ने कहा, ‘एमटीआर की विरासत संभालने वाले ने उनके सपनों को संवारने का वादा किया था।’
पीएम मोदी ने कहा, ‘जिन लोगों ने देश को धुएं में जीने के लिए छोड़ दिया था वो अब देश में झूठ का धुआं फैलाने में जुटे हैं। महामिलावट की जा रही है। संगत का असर ऐसा है कि यहां के सीएम भी आंध्र के विकास के विजन को भूलकर मोदी को गाली देने के कॉम्पिटिशन में कूद गए हैं।’
‘मैं खुश हूं कि टीडीपी ने मुझे कहा है कि गो बैक वापस जाकर दिल्ली में बैठो’
पीएम मोदी ने विरोधी पोस्टर पर तंज कसते हुए कहा, ‘जब हम स्कूल में पढ़ते थे तो टीचर कहती थीं- गो बैक वापस सीट पर जाकर बैठो। मैं खुश हूं कि टीडीपी ने मुझे कहा है कि गो बैक वापस जाकर दिल्ली में बैठो। आज महामिलावट के जिस क्लब में यहां के सीएम शामिल हुए हैं उसका स्वार्थ सिर्फ अपने राजनीति के दीये को जलाए रखना है। इन पर अब कानून का शिकंजा कस रहा है। आपके चौकीदार ने इनकी नींद हराम कर दी है। पाई-पाई का हिसाब देना पड़ा तो यहां के CM को तकलीफ हो रही है।’
‘डिक्शनरी में जितनी भी गाली है वो उन्होंने मोदी के लिए रिजर्व कर दिया’
पीएम मोदी ने कहा, ‘डिक्शनरी में जितनी भी गाली है वो उन्होंने मोदी के लिए रिजर्व कर दिया है। हर रोज नई गाली देते हैं। क्या उनको आंध्र के संस्कारों को इस तरह बदनाम करने का अधिकार है। यह (चंद्रबाबू नायडू) कल फोटो खिंचवाने के लिए दिल्ली जाने वाले हैं, बड़े हुजूम लेकर जाने वाले हैं, पार्टी का बिगुल बजाने। लेकिन बीजेपी जैसे अपने कार्यकर्ताओं के पैसे से कार्यक्रम करा रही है, वो आंध्र की जनता की तिजोरी से पैसा निकाल कर ले जा रहे हैं।’
‘क्या मजदूरी है कि वह नामदारों के सामने नतमस्तक हैं’
उन्होंने कहा, ‘क्या मजबूरी है कि वह नामदारों के सामने सर झुकाकर बैठ गए हैं। नामदारों ने हमेशा राज्यों के नेताओं का अपमान किया है। एमटीआर ने आंध्र को कांग्रेस मुक्त करने का वादा किया था। उस समय आंध्र प्रदेश का अपमान करने वाले दल को एनटीआर को दुष्ट कहते थे और आज नायडू को उन्हीं को दोस्त बनाकर बैठे हैं।’
उन्होंने कहा, ‘मैं चंद्रबाबू नायडू को याद दिलाना चाहता हूं कि हमारा उद्देश्य खुद के लिए धन पैदा करना नहीं, बल्कि देश के लिए धन पैदा करना है और देश के धन और संसाधनों का कुशल उपयोग सुनिश्चित करना है। पिछले 55 महीनों में केंद्र सरकार ने आंध्र के विकास के लिए पर्याप्त धनराशि जारी की है। हालांकि, राज्य सरकार ने कभी भी कुशल तरीके से इस फंड का इस्तेमाल नहीं किया। 2014 में जब हमारी सरकार बनी तो हमने आंध्र के लिए स्पेशल पैकेज बनाया जिससे आंध्र को उतनी मदद जरूर मिले जितनी विशेष राज्य के दर्ज पर मिलती। आंध्र के CM ने इसे स्वीकार करते हुए धन्यवाद किया था।’
‘पैकेज का सही इस्तेमाल करने में नाकाम रहे चंद्रबाबू’
उन्होंने आगे कहा, ‘इस पैकेज का सही इस्तेमाल कर पाने में नाकाम, राज्य का विकास कर पाने में नाकाम टीडीपी ने बाद में यू-टर्न ले लिया। मेरा वादा है कि आंध्र प्रदेश के विकास के लिए पूरे समर्पण भाव से हमारा काम जारी रहेगा।’
पीएम मोदी ने कृष्णपटनम भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (बीपीसीएल) के नए कोस्टल टर्मिनल प्रॉजेक्ट का शिलान्यास किया। पीएम मोदी ने कहा कि ‘अमरावती को आंध्र का ऑक्सफोर्ड भी कहा जाता है। यहां युवा अपने सपने पूरे करने आथे हैं। पहली बार वोट डालने वाले युवाओं को शुभकामनाएं देता हूं।’ उन्होंने कहा कि अमरावती पुरानी सभ्याताओं वाला शहर है। नए भारत का सेंटर बनने की पूरी क्षमता है। सैकड़ों करोड़ प्रोजेक्ट का शिलान्यास और उद्घाटन किया गया है। ऊर्जा सुरक्षा के लिए अहम है यह प्रॉजेक्ट।
गैस बेस्ड इकॉनमी का लक्ष्य
उन्होंने कहा, ‘न्यू इंडिया को नई साफ सुथरी प्रदूषण रहित ताकत बनाने का लक्ष्य है। एक तरफ हम गैस बेस्ड इकॉनमी की बात कर रहे हैं, दूसरी तरफ गरीब परिवारों को मुफ्त में गैस कनेक्शन देने का काम चल रहा है। पहले स्थिति क्या है और हम कहां पहुंचे हैं इसका अंदाजा गैस कनेक्शन की संख्या से लगाया जा सकता है। गैस कनेक्शन 1955 में शुरू हुई थी। इसके बाद 60 साल में 12 करोड़ एलपीजी कनेक्शन दिए गए। हमने पिछले साढ़े चार साल में 13 करोड़ नए गैस कनेक्शन दिए। इसलिए 2014 में 55 फीसदी के पास था गैस कनेक्शन अब 90 फीसदी लोगों के पास गैस कनेक्शन है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »