संस्कृति विवि के चांसलर ने छात्रों को दिया महत्वपूर्ण संदेश

मथुरा। कोरोना महामारी से डटकर मुकाबला करना है, हमने पहले भी किया है और इस बार भी कोरोना को मात देंगे। विद्यार्थी अपनी सामाजिक, पारिवारिक जिम्मेदारियों के साथ अपनी शिक्षा को भी यथावत जारी रखें। घर पर रहने का भरपूर लाभ उठाएं, आनलाइन क्लासेज में पूरी गंभीरता से उपस्थित हों अपने विषयों में पूरी पारंगता हासिल करें। परिवार के लोगों का टीकाकरण कराएं।

संस्कृति विश्वविद्यालय के चांसलर सचिन गुप्ता ने विद्यार्थियों के नाम जारी संदेश में कहा है कि विद्यार्थी देश का भविष्य हैं। स्वयं को इस महामारी से सुरक्षित रखने के लिए हर संभव प्रयास करें। समय-समय पर जारी की जा रही स्वास्थ्य संबंधी गाइडलाइन का पालन करें। अगर कोई जरूरी काम नहीं है तो घर पर रहें। परिवार के बुजुर्ग लोगों को इस गंभीर संक्रमण के प्रति जागरूक करें। सकारात्मक बातों से उनका मन प्रसन्न करें और मनोबल न गिरने दें। हर विद्यार्थी अपने घर के वातावरण को स्वच्छ और सकारात्मक बनाने की दिशा में कार्य करे। स्वयं और परिवार वालों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें।

चांसलर गुप्ता ने संदेश में बताया है कि संस्कृति विवि द्वारा समय रहते ही हर विषय की ऑनलाइन क्लासेज पिछले वर्ष से ही जारी की हुई हैं। एक वृहद योजना पर काम करते हुए सारा पाठ्यक्रम आनलाइन पढ़ाई जारी रखने के लिए बनाया हुआ है। संस्कृति विवि के शिक्षक ऑनलाइन शिक्षण के साथ विद्यार्थियों की विषय संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए ऑनलाइन उपलब्ध हैं। विद्यार्थी जिनके पास भरपूर समय है, इस अवसर का लाभ उठाएं। अपने पाठ्यक्रमों को पूरी तरह से समझने के लिए शिक्षकों से निरंतर इंटरेक्शन करें। अपने समय का सदुपयोग करें और यदि कोई अच्छा आइडिया है तो शिक्षकों के साथ साझा करें। उन्होंने कहा है कि विपरीत परिस्थितिया अवसर भी अनेक प्रदान करती हैं। इस बात को समझें और उसका लाभ उठाएं।

उन्होंने अपने संदेश में बताया कि संस्कृति आयुर्वेद कालेज और अस्पताल के चिकित्सकों के दल ने तमाम विद्यालयों में जाकर विद्यार्थियों को कोरोना के प्रति न केवल जागरूक किया है वरन बीमार हो जाने पर प्राकृतिक साधनों और आयुर्वेदिक औषधियों के प्रयोग के बारे में विस्तार से जानकारियां दी हैं। ऐसे सभी विद्यार्थी जिन्होंने इन स्वास्थ्य शिविर में भाग लिया है वे इन जानकारियों को अपने परिवार के सदस्यों और परिचतों के मध्य साझा करें, ताकि अधिक से अधिक लोग इसका लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा है कि आज यह सामने आ चुका है कि कोरोना जैसी महामारी से बचने में आयुर्वेदिक चिकित्सा कितनी कारगर है। संस्कृति आयुर्वेद कालेज एवं अस्पताल के चिकित्सक टेलीफोन पर लोगों को निशुल्क चिकित्सकीय मशविरा भी दे रहे हैं।

संस्कृति विवि का प्रयास है कि लोग जागरूक हों और इस विपरीत समय का डटकर मुकाबला करें। इसके साथ ही विद्यार्थियों की शिक्षा किसी भी तरह से प्रभावित न हो और देश का भविष्य सुरक्षित रहे।
– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *