अमिताभ ठाकुर सह‍ित 3 IPS को केंद्र ने दी अनिवार्य सेवानिवृत्ति

नई द‍िल्ली। आईपीएस आधिकारी अमिताभ ठाकुर को गृह मंत्रालय ने समय से पूर्व अनिवार्य रूप से सेवानिवृत करने का आदेश दिया है। आदेश में लिखा गया है कि अमिताभ ठाकुर को लोकहित में सेवा में बनाए रखे जाने के उपयुक्त न पाते हुए लोकहित में तात्कालिक प्रभाव से सेवा पूर्ण होने से पूर्व सेवानिवृत किये जाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

आज़मगढ़ में पुलिस भर्ती मामले में आरोपी राजेश कृष्ण IPS व देवरिया शेल्टर होम प्रकरण में संदिग्ध भूमिका के आरोपी राकेशशंकर (DIG,स्थापना) को भी अनिवार्य रूप से सेवानिवृत क‍िया गया है।

सरकार के इस आदेश पर उन्होंने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। ट्वीट करके उन्होंने लिखा कि मुझे अभी-अभी वीआरएस (लोकहित में सेवानिवृति) आदेश प्राप्त हुआ। सरकार को अब मेरी सेवाएं नहीं चाहिए। जय हिन्द ! उन्होंने सरकार का वो पत्र भी ट्वीट क‍ि याा है जो उन्हें आदेश के रूप में प्राप्त हुआ है। ये रहा वो पत्र –

Center gives compulsory retirement to IPS Amitabh Thakur
Center gives compulsory retirement to IPS Amitabh Thakur

अम‍िताभ ठाकुर ने विकास दुबे के एनकाउंटर सह‍ित कई मामलों पर व‍िभाग की संद‍िग्ध कार्यप्रणाली को सामने लाने का प्रयास करते रहे हैं। विकास दूबे की ग‍िरफ्तारी औश्र एनकाउंटर पर उनके ट्वीट्स ने खासी तवज्जे बटोरी थी।

उन्होंने ट्वीट पर लिखा है, विकास दूबे का सरेंडर हो गया। हो सकता है कल वह UP पुलिस कस्टडी से भागने की कोशिश करे, मारा जाये। इस तरह विकास दूबे चैप्टर क्लोज हो जायेगा, किन्तु मेरी निगाह में असल जरुरत इस कांड से सामने आई UP पुलिस के अन्दर की गंदगी को ईमानदारी से देखते हुए उसपर निष्पक्ष/कठोर कार्यवाही करना है…

इतना ही नहीं विकास दुबे की गिरफ्तारी पर भी उनका एक ट्विट आया था। अमिताभ ठाकुर ने ट्वीट किया, हम विकास दूबे को गिरफ्तार नहीं कर पाए और वह उज्जैन में सरेंडर हो गया। इतनी बड़ी घटना के बाद भी हम उसे अरेस्ट नहीं कर सके और वह कई स्थानों से घूमता हुआ सूदूर स्थान तक चला गया। मुझे लगता है इस बिंदु की भी गहराई से जाँच की जानी चाहिए।

इसके बाद जैसे ही विकास के मरने की खबर आई, अमिताभ ठाकुर ने फिर सवाल दाग दिया। इस बार उन्होंने लिखा, इतनी क्या हड़बड़ी थी? किसे बचाया जा रहा है?

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *