दिल्‍ली को केंद्र ने दिए 500 रेलवे कोच बेड, घर-घर जाकर किया जाएगा हेल्‍थ सर्वे

नई दिल्‍ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को दिल्‍ली में कोरोना वायरस के हालात पर समीक्षा बैठक की। यह मीटिंग ऐसे वक्‍त में हुई जब दिल्‍ली में करीब 39 हजार कोरोना केसेज हो गए हैं। मरने वालों की संख्‍या भी 1,200 से ऊपर जा चुकी है। करीब एक घंटे 20 मिनट चली मुलाकात में फोकस दिल्‍ली में कोरोना को रोकने, टेस्टिंग बेहतर करने, अस्‍पतालों में बेड सुनिश्चित करने और बाकी हेल्‍थ इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर मजबूत करने पर रहा। मीटिंग में दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल अनिल बैजल, मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन शामिल हुए।
घर-घर जाकर हर एक का होगा हेल्‍थ सर्वे
मरीजों के लिए बेड की कमी को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने तुरंत 500 रेलवे कोच दिल्ली को दिए जाएंगे। इससे दिल्‍ली में 8000 बेड बढ़ जाएंगे। यह कोच कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए सभी सुविधाओं से लेस होंगे। दिल्ली के कन्टेनमेंट जोन में कॉन्‍टैक्‍ट मैपिंग अच्छे से हो पाए इसके लिए घर-घर जाकर हर एक व्यक्ति का व्यापक स्वास्थ्य सर्वे किया जायेगा, जिसकी रिपोर्ट 1 सप्ताह में आ जाएगी। साथ ही अच्छे से मॉनिटरिंग हो, इसके लिए वहां हर व्यक्ति के मोबाइल में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करवाई जाएगी।
टेस्टिंग छह गुना करने की तैयारी
शाह ने कहा कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए अगले दो दिन में कोरोना की टेस्टिंग को बढाकर दो गुना किया जाएग। 6 दिन बाद टेस्टिंग को बढाकर तीन गुना कर दिया जाएगा। कुछ दिन के बाद कन्टेनमेंट जोन में हर पोलिंग स्टेशन पर टेस्टिंग की व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी। दिल्ली के छोटे अस्पतालों तक कोरोना के लिए सही जानकारी व दिशा निर्देश देने के लिए AIIMS में टेलीफोनिक गाइडेंस के लिए वरिष्ठ डॉक्टर्स की एक कमेटी बनाई जाएगी। इसका हेल्पलाइन नं. कल जारी हो जाएगा।
इलाज में किसी को न आए परेशानी
जानकारी के मुताबिक बैठक में चर्चा की गई कि क्वारंटीन सेंटर बढ़ाए जाएं। साथ ही बैठक में यह बात स्पष्ट की गई कि दिल्ली के लोगों के इलाज में किसी तरह की दिक्कत नहीं आनी चाहिए। फिर चाहे उनका इलाज दिल्ली सरकार के अस्पताल में हो या फिर केंद्र सरकार के अस्पताल में।
दिल्‍ली सरकार ने क्‍या कहा
दिल्‍ली सरकार ने सारे अस्‍पतालों में कोविड-19 के इलाज की व्‍यवस्‍था करने की मांग रखी है। अगले हफ्ते तक 20 हजार एक्‍स्‍ट्रा बेड तैयार करने का टारगेट है। साथ ही प्राइवेट हॉस्पिटल्‍स में कैपिंग लगाने की भी डिमांड रखी गई। कोरोना टेस्टिंग को लेकर केजरीवाल सरकार ने कहा कि बाकी बीमारियों की तरह इसका भी टेस्‍ट हो और आसानी से रिपोर्ट मिले। प्राइवेट लैब्‍स में जांच की कीमत कम की जाए। दिल्‍ली सरकार प्राइवेट अस्‍पतालों की मॉनिटरिंग के लिए एक कमेटी भी बनाना चाहती है।
गृह मंत्री ने शाम को दिल्‍ली के तीन नगर निगमों के मेयर और कमिश्‍नर्स को भी बुलाया है। उस मीटिंग में एलजी, सीएम और केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री भी शामिल होंगे। दिल्‍ली में महाराष्‍ट्र और तमिलनाडु के बाद सबसे ज्‍यादा कोरोना केसेज हैं।
दिल्‍ली का पॉजिटिविटी रेट 35% से ज्‍यादा
दिल्ली में बीते 24 घंटों के दौरान 5776 लोगों की कोरोना जांच हुई, जिनमें से 2134 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। यानी एक दिन दिन में किए गए कुल कोरोना टेस्ट में 35 प्रतिशत से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। 24 घंटे के दौरान दिल्ली में कोरोना से 57 व्यक्तियों की मौत भी हो गई। 24 घंटे के दौरान 2134 नए कोरोना पॉजिटिव केस आए हैं। दिल्ली में कोरोना रोगियों की कुल संख्या 38,958 हो गई हैं। अभी तक 14,945 कोरोना मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। दिल्ली में अभी भी 22,742 एक्टिव मरीज हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *