शेयर बाजार में जश्न जारी, 1300 अंकों की तेजी से निवेशक हैरान

मुंबई। कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती और लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स पर सरचार्ज की वापसी के बाद बाद शेयर बाजार में जश्न जारी है।
शुक्रवार को बीएसई सेंसेक्स में 1921 अंकों के उछाल के बाद सोमवार को शुरुआती कारोबार में 1300 अंकों की तेजी से दलाल पथ के निवेशक हैरान हैं। क्या यह आने वाले अच्छे दिनों की शुरुआत भर है?
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती की घोषणा के बाद कई विदेशी ब्रोकरेज ने भारत में निवेश बढ़ा दिया है। दलाल स्ट्रीट के विश्लेषकों ने भी सेंसेक्स और निफ्टी के लिए साल अंत के टारगेट को 11 फीसदी बढ़ा दिया है। यदि इतिहास खुद को दोहराता है तो तो यह लक्ष्य हासिल हो सकता है।
पिछले सात साल में छह ऐसे मौके (पिछले सप्ताह से पहले) आए जब निफ्टी में इंट्रा-वीक में 5 पर्सेंट या इससे अधिक की तेजी आई। ऐसे हर मौके के बाद अगले तीन महीने में बाजार 3-13 पर्सेंट तक बढ़ा, केवल एक बार को छोड़कर जब यह आगामी साल में 11-25% बढ़ा।
उदाहरण के तौर पर, 2 नवंबर, 2018 को समाप्त हुए सप्ताह में, अमेरिका-चीन ट्रेड डील के सफल होने की उम्मीद और क्रूड ऑइल की कीमतों में गिरावट के बाद बाजार में 5.3% की तेजी आई, इसके बाद अगले एक महीने में सूचकांक 3.23 पर्सेंट और अगले छह महीने में 11.33 पर्सेंट बढ़ा।
27 मई 2016 को समाप्त हुए सप्ताह में 5.71 फीसदी तेजी आई, इसके अलगे तीन महीने में 5.10% उछाल आया। इसी तरह मार्च 2016 को समाप्त हुए सप्ताह में निफ्टी50 में 9.66 पर्सेंट की रिकवरी हुई। इसके बाद अगले तीन महीने में 25.24 पर्सेंट और अगले छह महीनों में 25.24 फीसदी की तेजी आई। यस सिक्यॉरिटीज की एक स्टडी के मुताबिक, ऐसे हर मौके पर निफ्टी ने अगले तीन महीने में औसतन 9.51 पर्सेंट और साल में 13.63 फीसदी का रिटर्न दिया।
इक्विनॉमिक्स रिसर्च एंड अडवाइजरी के फाउंडर और एमडी जी चोक्कालिंगम ने कहा, ‘साहस के मामले में सरकार की ओर से उठाया गया कदम अभूतपूर्व है। राजकोषीय सावधानी पर विकास को प्राथमिकता देना भी एक साहसिक उपाय है। हम अर्थव्यवस्था और बाजार में एक महत्वपूर्ण सुधार के लिए हैं। कुछ मुनाफा वसूली हो सकती है, लेकिन मीडियम टर्म आउटलुक पूरी तरह सकारात्मक है। सोमवार की रैली के बाद हम बेंचमार्क इडेक्स में 5 और पर्सेंट की तेजी देख रहे हैं, लेकिन मिडकैप और स्मॉलकैप स्टैक्स में इससे भी ज्यादा तेजी आ सकती है।
79 प्रतिशत पार्टिसिपेंट्स का मानना है कि शेयर बाजार का सबसे बुरा दौर खत्म हो गया है। 23 फंड मैनेजरों और एनालिस्टों में से आधे ने कहा कि इस साल के अंत तक निफ्टी 12,000-12,500 के बीच होगा। यह मौजूदा स्तर से 11 प्रतिशत ऊपर है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *