CDSCO ने बुलंदशहर की कंपनी BIBCOL सहित देश की 3 और कंपनियों को Covaxin बनाने की अनुमति दी

नई दिल्‍ली। कोविड-19 के प्रकोप से जूझ रहे भारत को आने वाले दिनों में प्राणरक्षक वैक्सीन के अभाव से नहीं जूझना पड़ेगा। सेंट्रल ड्रग्स कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन CDSCO ने देश की 3 और कंपनियों को covaxin बनाने के लिए हरी झंडी दे दी है। इनमें बुलंदशहर की नामचीन कंपनी भारत इम्यूनोलॉजिकल्स एंड बायोलॉजिकल्स कारपोरेशन लिमिटेड BIBCOL शामिल है। इस तरह कोविड-19 से जंग में अब बुलंदशहर अहम भूमिका निभाने जा रहा है। बीबकोल हर माह सरकार को डेढ़ करोड़ डोज उपलब्ध कराएगी।
भारत इम्यूनोलॉजिकल्स एंड बायोलॉजिकल्स कॉरपोरेशन लिमिटेड कंपनी आगे इस क्षमता को बढ़ाकर दो करोड़ डोज करने का लक्ष्य निर्धारित कर रही है। उम्मीद है कि अक्टूबर से कंपनी उत्पादन शुरू कर सरकार को कोवैक्सीन उपलब्ध कराने लगेगी। फिलहाल कंपनी की तकनीकी टीम कोवैक्सीन तैयार करने के लिए जरूरी संसाधन जुटाने में लगी है। अभी बीबकोल द्वारा देश के लिए पोलियोरोधी वैक्सीन का निर्माण किया जा रहा है।
हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटैक ही अभी तक को-वैक्सीन बना रही है। कोविड के प्रकोप के कारण कंपनी को मांग के सापेक्ष आपूर्ति करने में दिक्कत हो रही है। इसी क्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रलय ने सेंटल ड्रग्स कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन कोवैक्सीन उत्पादन बढ़ाने के निर्देश दिए। इसके बाद देश में वैक्सीन बनाने का अनुभव रखने वाली तीन कंपनियों का चयन किया गया। इनमें हैफकिन बायो फार्मास्यूटिकल्स मुंबई एनडीडीबी, नेशनल डेयरी डेवलेपमेंट बोर्ड से जुड़ी कंपनी इम्यूनोलाजिकल लिमिटेड आइआइएल व बुलंदशहर स्थित भारत इम्यूनोलॉजिकल्स एंड बायोलॉजिकल्स कॉरपोरेशन BIBCOL शामिल हैं।
वैक्सीन बनाने को इन कंपनियों को सरकार आर्थिक मदद भी दे रही है। तीनों कंपनियों को हर माह डेढ़ करोड़ वैक्सीन डोज तैयार करने का लक्ष्य दिया गया है। BIBCOL को कोवैक्सीन तैयार करने की अनुमति के साथ ही तय हो गया है कि कोरोना से देशव्यापी जंग में बुलंदशहर महत्वपूर्ण भूमिका में आ गया है। सिकंदराबाद के गांव चौला स्थित BIBCOL में कोवैक्सीन तैयार करने की तैयारी हो रही है। हालांकि कंपनी के कई बड़े अधिकारी इन दिनों कोरोना पीड़ित होकर अस्पताल में है किंतु यहां जरूरी उपकरण व संसाधन जुटाए जाने लगे हैं। कंपनी के अधिकारी सुनील शर्मा बताते हैं कि कोवैक्सीन तैयार करने के लिए प्राथमिक कार्य शुरू हो चुका है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *