बोर्ड एग्जाम के सिलेबस में एक तिहाई कटौती कर सकता है CBSE

नई दिल्‍ली। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से छात्रों की पढ़ाई का जो नुकसान हुआ है, CBSE उसकी भरपाई की कोशिश में है।
एक रिपोर्ट के मुताबिक सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंड्री एजुकेशन CBSE बोर्ड एग्जाम के सिलेबस में एक तिहाई कटौती कर सकता है यानी एक तिहाई सिलेबस के बोझ से छात्रों को राहत मिल सकती है। नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग NCERT ने CBSE को सिलेबस कम करने में मदद की है।
CBSE ने NCERT को कहा था कि कोई पूरा चैप्टर हटाने की अनुशंसा करने की बजाय किसी चैप्टर के कुछ खास टॉपिक या थीम को हटाने का सुझाव दिया जा सकता है। कोई ऐसा टॉपिक या थीम जो एक से ज्यादा चैप्टर में रिपीट हो रहा है या फिर ओवरलैप हो रहा हो या उससे जुड़ी जानकारी किसी दूसरे चैप्टर में मिल रही है, तो उस टॉपिक या थीम को हटाया जा सकता है। सिलेबस कटौती का यह पैमाना सिर्फ 10वीं और 12वीं क्लास के लिए अपनाया जाएगा। आठवीं क्लास और उससे नीचे की क्लास के लिए CBSE से मान्यता प्राप्त स्कूलों को अपने हिसाब से सिलेबस में कटौती करने की छूट दी गई है।
सिलेबस में कटौती करने वाला सबसे पहला बोर्ड काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशंस (सीआईएससीई) बन गया है। पिछले हफ्ते सीआईएससीई ने आईसीएसई और आईएससी के अगले साल के बोर्ड एग्जाम के सिलेबस में काफी कटौती की है। सभी विषयों में 25 फीसदी सिलेबस कम किया गया है। अगर अगस्त में स्कूल नहीं खुले तो बोर्ड सिलेबस में और कटौती कर सकता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *